हिमाचल: संदिग्ध हाल में मृत पड़ा मिला 'जंगली हाथी', क्या शरारती तत्वों ने लगाया था करंट ?

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: संदिग्ध हाल में मृत पड़ा मिला 'जंगली हाथी', क्या शरारती तत्वों ने लगाया था करंट ?


सिरमौरः
हिमाचल प्रदेश में एक वृद्ध हाथी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने की खबर सामने आई है। घटना हिमाचल- हरियाणा के बार्डर पर स्थित बहराल के समीप की है। आशंका जताई जा रही है कि हाथी की मौत प्राकृतिक ना होकर कुछ शरारती तत्वों द्वारा करंट लगाने के चलते हुई है। 

मिली जानकारी के मुताबिक बीते सोमवार को बहराल स्थित कोंच वेली के करीब एक वृद्ध हाथी मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। इसकी सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस व वन विभाग को दी। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस व वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। 

आज होगा पोस्टमार्टम, 

जिन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया साथ ही हाथी के मरने की सूचना भारतीय वन्य प्राणी संस्थान देहरादून को दी। आज फॉरेंसिक की टीम द्वारा हाथी का मौके पर ही पोस्टमार्टम किया जाएगा। इसके उपरांत ही मौत के कारण स्पष्ट हो पाएंगे। 

रात्री में हाथी की सुरक्षा के लिए की थी कर्मियों की तैनाती

वहीं, रात में मृत हाथी की सुरक्षा के लिए विभाग की ओर से कर्मियों की तैनाती की गई थी। इस संबध में स्थानीय लोगों की मानें तो उनका कहना है कि हाथी को जानबूझ कर करंट लगाकर मौत के घाट उतारा गया है। 

डेढ़ दशक से हिमाचल में शामिल हो रहे हैं हाथी

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब कोई हाथी इस तरह से मृत पाया गया है। इससे पहले भी एक हाथी की करंट लगने के कारण मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि यमुना नदी के जल स्तर में कमी आने के कार अकसर जंगली हाथी उत्तराखंड से हिमाचल सीमा में दाखिल होते हैं। वे करीब डेढ़ दशक से पांवटासाहिब घाटी की ओर आ रहे हैं। 

परंतु यहां हाथी कभी करंट की चपेट में आ जाते हैं या फिर कुछ शरारती तत्वों के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में स्थानीय लोगों ने वन विभाग से आग्रह किया है कि वे इस संबंध में उचित कदम उठाए ताकि आने वाले समय में किसी बेजुवान जानवर की यूं इस कदर मौत ना हो सके।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ