हिमाचली युवाओं के पास खुद का काम शुरू करने का मौका: सरकार देगी 35 फीसद तक सबसिडी, जानें

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचली युवाओं के पास खुद का काम शुरू करने का मौका: सरकार देगी 35 फीसद तक सबसिडी, जानें


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में बेरोजगार बैठे युवाओं के लिए अपना बिजनेस खोलने का एक सुनहरा मौका सरकार की ओर से दिया जा रहा है। 

पांच लाख से एक करोड़ तक का लोन मिलेगा 

बता दें कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत अब बेरोजगार युवाओं के लिए अपना डेयरी प्रोजेक्ट खोलने के लिए पांच लाख से करीब एक करोड़ रुपए का ऋण दिया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने वाले बेरोजगार युवाओं को 25 से 35 प्रतिशत तक सबसिडी मिलेगी। इसकी जानकारी उद्योग विभाग के महाप्रबंधक ओपी जरियाल ने साझा की है।

पुरुष को 25 तो महिला को 30 और विधवा को 35% सब्सिडी 

दरअसल, हिमाचल प्रदेश 80 प्रतिशत दूध के लिए अन्य राज्यों पर निर्भर है। ऐसे में डेयरी प्रोजेक्ट के जरिए प्रदेश के युवा रोजगार पा सकेंगे साथ ही साथ अन्य लोगों को भी रोजगार दे पाएंगे। इस योजना के तहत 25 प्रतिशत पुरुषों, 30 प्रतिशत महिलाओं व 35 प्रतिशत विधवा महिलाओं के लिए सबसिडी तय की गई है। 

योजना का लाभ पाने के लिए युवाओं को 10-10 गाय या भैंसें खरीदनी होंगी। इनकी खरीदारी पर विभाग की ओर से कोई सबसिडी नहीं दी जाएगी। इसका मुख्य कारण यह है कि अकसर लोग गाय व भैंस खरीद तो लेते हैं पर उद्योग स्थापित नहीं करते। ऐसे में सरकार द्वारा इनकी खरीददारी पर सबसिडी नहीं दी जा रही है। हालांकि, विभाग डेयरी फार्म के लिए शेड बनाने, मिल्किंग मशीन व अन्य मशीनों पर सबसिडी देने का प्रावधान विभाग की ओर से किया गया है।

जानें कैसे मिलेगा लाभ-

  • इस योजना का लाभ पाने के लिए बेरोजगार युवाओं को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 
  • इसके साथ ही उन्हें हिमाचली बोनॉफाइड,आधार कार्ड की फोटो कापी, जमीन के दस्तावेज और प्रोजेक्ट की रिपोर्ट दाखिल करनी होगी।
  • सरकार प्रोजेक्ट रिपोर्ट के आधार पर एक करोड़ रुपये तक मंजूर हो सकता है। 
  • ऋण मंजूर होने के साथ ही दूध से बनने वाले उत्पादों मक्खन, लस्सी, पनीर, खोया आदि के लिए भी बेरोजगार मशीनें लोन पर ले सकेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ