खबर काम की: पत्नी को बनाएं आत्मनिर्भर, खुलवाएं ये अकाउंट, हर महीने मिलेंगे 45 हजार रुपए

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

खबर काम की: पत्नी को बनाएं आत्मनिर्भर, खुलवाएं ये अकाउंट, हर महीने मिलेंगे 45 हजार रुपए


आज महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। एक इनकम सोर्स से घर चलाना मुश्किल है। ऐसे में जरूरी है कि पति के साथ पत्नी भी पैसे कमाएं। अब गृहणियां भी आत्मनिर्भर बन रही हैं। वह ऑफिस न जाकर घर से कई ऑनलाइन कार्य कर रही हैं। अगर आप भी चाहते हैं कि आपकी वाइफ को किसी पर निर्भर न रहना पड़े। 

आपके अनुपस्थिति में घर पर एक रेगुलर इनकम आती रहे। तब आपको नेशनल पेंशन स्कीम में निवेश करना चाहिए। आप पत्नी के नाम पर न्यू पेंशन सिस्टम खाता खोल सकते हैं। आइए जानते हैं क्या है इसके फायदें।

एक हजार रुपए तक निवेश

एनपीएस अकाउंट में आप यह तय कर सकते हैं कि पत्नी को हर महीने कितनी पेंशन मिलेगी। वाइफ 60 साल की उम्र के बाद पैसों के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहेंगी। इस खाते में सुविधा के अनुसार हर महीने या सालाना रकम जमा कर सकते हैं। आप एक हजार रुपए से भी पत्नी के नाम एनपीएस अकाउंट खोल सकते हैं। 60 वर्ष की आयु में खाता मैच्योर हो जाता है।

45 हजार तक मासिक इनकम

मान लीजिए आपकी पत्नी की उम्र 30 वर्ष है। आप उनके एनपीएस खाते में हर महीने पांच हजार रुपए निवेश करते हैं। अगर सालाना 10 फीसद रिटर्न मिलता है। तब 60 साल की आयु में उनके अकाउंट में 1.12 करोड़ रुपए होंगे। इसमें से करीब 45 लाख रुपए मिलेंगे। वहीं हर महीने 45 हजार रुपए पेंशन मिलेगी। यह पेंशन आजीवन मिलती रहेगी।

पैसे रहता है सुरक्षित

एनपीएस (NPS) भारत सरकार की सोशल सिक्योरिटी स्कीम है। इस योजना में पैसों का प्रबंधन प्रोफेशनल फंड मैनेजर करते हैं। केंद्र सरकार प्रोफेशनल फंड मैनेजर्स को इसकी जिम्मेदारी देती है। हालांकि इस स्कीम में जो राशि निवेश करते हैं। उस पर रिटर्न की गारंटी नहीं होती। फाइनेंशियल प्लानर्स के अनुसार एनपीएस ने सालाना करीब 10 से 11 फीसदी तक रिटर्न दिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ