मिशन रिपीट के लिए इतने तोहफे: पुलिस कांस्टेबलों को भी मनाया, पेंशनर और कर्मचारी भी खुश

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

मिशन रिपीट के लिए इतने तोहफे: पुलिस कांस्टेबलों को भी मनाया, पेंशनर और कर्मचारी भी खुश


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सूबे की जयराम सरकार मिशन रिपीट को पूरा करने के लिए सभी को खुश करने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में आज पूर्ण राज्यत्व दिवस के मौके पर सीएम जयराम ठाकुर ने कर्मचारियों के लिए तोहफों की बरसात कर दी है. 

हाल ही में नया वेतनमान लागू करने के बाद अब सरकार ने नए वेतनमान की विसंगतियों को दूर करने का निर्णय लेते हुए अपने ऊपर आर्थिक बोझ को एक बार फिर से 2 हजार करोड़ से अधिक बढ़ा लिया है. सोलन में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कई बड़ी सौगातें हिमाचल के कर्मचारियों को दी हैं, जिनमें अढ़ाई लाख सरकारी कर्मचारी, डेढ़ लाख पेंशनर और पुलिस कर्मचारी शामिल हैं।

इसके अलावा सीएम ने हिमाचल प्रदेश में करीब 11 लाख उपभोक्ताओं को आने वाले दिनों में सस्ती बिजली देने का भी ऐलान किया है. तो आइए एक-एक कर विस्तार से जानते हैं सभी घोषणाओं के बारे में:- 

तीन प्रतिशत डीए

हिमाचल के विभिन्न सरकारी विभागों में तैनात कर्मचारियों को जयराम ठाकुर ने 28 से बढ़ाकर 31 प्रतिशत डीए यानी महंगाई भत्ता देने की घोषणा की है, जिस पर लगभग पांच सौ करोड़ रुपए खर्चा आएगा।

नया वेतनमान

नए वेतनमान की विसंगतियों को दूर करते हुए मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि सरकार ने कर्मचारियों को पहले ही दो विकल्प दिए हैं और तीसरा यानी एक अन्य विकल्प भी सरकार के पास है। इसके बाद भी कोई कर्मचारी इन लाभों से वंचित रह जाता है, तो सरकार उस पर भी विचार करेगी। सीएम ने कहा कि प्रदेश के अढ़ाई लाख कर्मचारियों का हिमाचल के विकास में अहम योगदान है और सरकार ने नया वेतनामान लागू किया है, जिस पर छह हजार करोड़ का सालाना खर्च आएगा।

पेंशनरों को पंजाब की तर्ज पर पेंशन

मुख्यमंत्री ने डेढ़ लाख पेंशनरों के लिए घोषणा करते हुए कहा कि पेंशनरों को पंजाब वेतन आयोग की दर्ज पर पेंशन लाभ दिए जाएंगे। चूंकि पेंशनरों ने भी हिमाचल के विकास में अहम योगदान दिया है, लिहाजा उन्हें पंजाब की तर्ज पर यह लाभ दिए जाएंगे। जिस पर सालाना दो हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

पुलिस पे बैंड

हिमाचल पुलिस के कांस्टेबलों की मांग को देखते हुए जयराम ठाकुर ने बड़ी घोषणा की। सीएम ने घोषणा करते हुए कहा कि पे बैंड में सुधार करते हुए कांस्टेबल्स को सामान वेतनमान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 के बाद नियुक्त कांस्टेबल को अन्य श्रेणियों की तर्ज पर समान कार्यकाल के उपरांत वेतनामान के लिए पात्र माना जाएगा। 

जो कांस्टेबल्स उच्च वेतनमान के लिए पात्र हो गए हैं, उन्हें प्रि रिवाइज्ड पे-स्केल के अनुसार उन्हें उच्च वेतनमान का लाभ तुरंत प्रभाव से दिया जाएगा। सीएम ने उदाहरण देते हुए कहा कि जिस प्रकार अन्य श्रेणियों में 2015 में कर्मचारी अनुबंध पर तैनात हुए थे और 2018 में उन्हें नियमिती के बाद वर्ष 2020 में उसे उच्च वेतनमान मिला, उसी तरह 2015 में नियुक्त कांस्टेबल्स भी 2020 में उच्च वेतनमान का पात्र होगा।

सस्ती बिजली 

हिमाचल प्रदेश में करीब 11 लाख उपभोक्ताओं को आने वाले दिनों में सस्ती बिजली मिलेगी। 60 यूनिट तक प्रदेश सरकार उपक्ताओं को मुफ्त बिजली प्रदान करेगी। 125 यूनिट तक उपभोक्ताओं पर मात्र एक रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिल लिया। इसी प्रकार प्रदेश के किसानों को भी सरकार ने सस्ती बिजली देने का फैसला किया है। सरकार की ओर से किसानों को 50 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली प्रदान की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ