हिमाचलः एक तो विधवा, उस पर इतने जुल्म; सरकार नहीं पिघली! आप खुद देखो

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचलः एक तो विधवा, उस पर इतने जुल्म; सरकार नहीं पिघली! आप खुद देखो

कांगड़ाः
हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा गरीब लोगों के विकास व उनकी मदद के लिए कई योजनाएं चलाई गई हैं। बावजूद इसके अभी भी बहुत से लोग इन योजनाओं से वंचित हैं।

ऐसा ही एक मामला प्रदेश के कांगड़ा जिले स्थित इंदौरा विधानसभा क्षेत्र के तहत आती ग्राम पंचायत सूरजपुर का सामने आया है। 

जहां एक 80 वर्षीय बुजुर्ग विधवा महिला को इस उम्र में अपने मकान के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं, इसके बावजूद उनकी परेशानियों का अभी तक कोई हल नहीं हो पाया है। 

हैरानी की बात तो ये है कि इंदौरा की विधायक की अपनी पंचायत में रहने वाली वृद्ध महिला की ऐसी हालत है। ऐसे में ये कहना लाजमी है कि सरकार द्वारा चलाई गई ये योजनाएं उनके हितेशियों को लाभ पहुंचाने के लिए है।

मिली जानकारी के मुताबिक सूरजपुर ग्राम पंचायत निवासी सृष्टि देवी के मकान की हालत बेहद ही खराब है। आलम ये आ पहुंचा है कि घर किसी भी वक्त गिर सकता है। इस संबंध में महिला व उसके परिजनों ने पंचायत व उच्च प्रतिनिधियों के आगे इसे मरम्मत करने व उनकी मदद करने की बात भी कही। परंतु बावजूद इसके अभी तक किसी ने उनकी एक नहीं सुनी। 

बीपीएल श्रेणी में होने के बावजूद नहीं मिली सुविधा:

इस संबंध में विधवा महिला ने जानकारी देते हुए बताया कि पंचायत द्वारा उनके परिवार को 2012 से बीपीएल श्रेणी में रखा गया है। परंतु आजतक पंचायत द्वारा उन्हें इस श्रेणी के लोगों को मिलने वाली सुविधाओं से वंचित रखा गया। 
उनका कहना है कि ना तो उन्हें उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिया गया और ना ही स्वच्छ योजना के तहत सौचालय का लाभ दिया गया।

इस संबंध में विधवा के बेटे पंकज का कहना है कि उनका मकान पूरी तरह से खत्म हो चुका है और गिरने की कगार पर है। उन्होंने इस संबंध में अपनी इलाके की विधायक के पति से भी बात की थी। परंतु अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ। उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि वह एक बार आकर उनका घर देख लें और वे जिस सुविधा के पात्र हैं वो उन्हें उपलब्ध करवाई जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ