हिमाचल प्रदेश में 19 लाख का घोटाला: विजिलेंस ने आरोपी जूनियर असिस्टेंट को किया गिरफ्तार

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल प्रदेश में 19 लाख का घोटाला: विजिलेंस ने आरोपी जूनियर असिस्टेंट को किया गिरफ्तार


ऊना।
हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले से एक बड़े घोटाले की खबर सामने आ रही है। यहां पर स्टेट विजिलेंस और एंटी क्रप्शन ब्यूरो की जिला टीम ने लोक निर्माण विभाग के ऊना स्थित विद्युत मंडल के अधिशासी कार्यालय में कार्यरत आरोपी राकेश सिंह को अरेस्ट किया है। 

आरोपी राकेश सिंह कनिष्ट सहायक के पद पर तैनात था। बताया गया कि कार्यालय में करीब 19 लाख रुपए की हेराफेरी हुई है। आरोपी के खिलाफ 21 जनवरी को धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ था। मामले की जांच में विभाग के ही कुछ पूर्व अधिशासी अभियंता पर भी विजिलेंस द्वारा विभागीय कार्रवाई करने की सिफारिश की गई थी।

स्टेट विजिलेंस एंड एंटी क्रप्शन ब्यूरो के ऊना स्थित डीएसपी अनिल मेहता ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि विजिलेंस ने आरंभिक जांच के बाद आरोपी राकेश सिंह को बुधवार के दिन अदालत में पेश किया जाएगा।

क्या है मामला

आरोप के अनुसार राकेश सिंह ने वित्त वर्ष 2019-20 में अधिशासी अभियंताओं को गुमराह करते हुए अपने भविष्य निधि खाते में पैसे न होते हुए भी अग्रिम प्रत्यहरण (एडवांस विथडरॉल) करते हुए 6 निकासियों में करीब 19 लाख रुपए के सरकारी फंड की हेराफेरी करते हुए दुरुपयोग किया है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ