हिमाचल की बेटियां: पिता के संघर्ष को मुकाम में बदला, एक बेटी डॉक्टर और दूसरी बनेगी नर्स

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल की बेटियां: पिता के संघर्ष को मुकाम में बदला, एक बेटी डॉक्टर और दूसरी बनेगी नर्स


हमीरपुरः
हिमाचल प्रदेश में गाय भैंस पालकर इलाके में दूध बेचने वाले शख्स की बेटियों ने अपनी मेहनत और लगन के चलते अपने पिता का सर पूरे देश में गर्व से उंचा कर दिया है। बाता दें कि हमीरपुर जिले स्थित गांव पुरनार निवासी शाहदीन की बड़ी बेटी नाजिया का चयन एमबीबीएस तो छोटी बेटी तनु प्रिया का चयन जीएनएम नर्सिंग में हुआ है। 

उनकी यह उपलब्धि इसलिए भी खास है क्योंकि उन्होंने इस परिक्षा को बिना किसी कोचिंग के पास किया है। दोनों बेटियों की इस सफलता पर इलाके में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। मिली जानकारी के मुताबिक नाजिया व तनु प्रिया बेहद ही निर्धन परिवार से संबंध रखती हैं। उनके पिता  शाहदीन दूध बेचकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं, जबकि उनकी माता नुसरक गृहणी हैं। ऐसे में उनकी इस तरक्की पर उनके परिजन काफी खुश हैं। 

नीट में हासिल किया 47वां स्थान

बता दें कि हाल ही में नीट द्वारा घोषित परिणामों में नाजिया ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पूरे देश भर में 47वीं रैंक हासिल की। इसके तहत उन्हें एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) बिलासपुर में एडमिशन मिला है। जबकि छोटी बेटी तनु प्रिया ने टांडा मेडिकल कॉलेज में जीएनएम नर्सिंग में दाखिला पाया है।

सरकारी स्कूल की छात्रा रही हैं

बता दें कि नाजिया राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मटाहनी की पूर्व छात्रा रही हैं। ऐसे में उन्हें उनकी इस सफलता के लिए स्कूल की प्रधानाचार्य रेनू कौशल और एसएमसी प्रधान संजीव शर्मा की ओर से बीते मंगलवार को स्कूल बुलाकर सम्मानित किया गया। वहीं, पुलिस अधीक्षक हमीरपुर डॉ. आकृति शर्मा ने भी नाजिया को नीट 2022 की परीक्षा में शानदार प्रदर्शन करने पर बधाई दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ