हिमाचल के होनहार: अखबार बेचने वाले के बेटे ने बिना कोचिंग पास की नीट परीक्षा, मिली ये सीट

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल के होनहार: अखबार बेचने वाले के बेटे ने बिना कोचिंग पास की नीट परीक्षा, मिली ये सीट


कांगड़ाः
हिमाचल प्रदेश के युवा कड़ी मेहनत और लगन से अपने सपनों को पूरा कर अपने इलाके व पूरे प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं। ऐसा ही कर दिखाया है कांगड़ा जिले स्थित देहरागोपीपुर उपमंडल के तहत आती दयाल पंचायत के रहने वाले साद्विक ने। बता दें कि हाल ही में नीट परिक्षा के परिणाम घोषित हुए हैं। इसमें बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए साद्विक ने 454वीं  रैंक हासिल कर सरकारी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल टांडा में सीट हासिल की है। 

अखबार बेचते हैं पिता

यहां से साद्विक एमबीबीएस की पढ़ाई कर अपने डॉक्टर बनने का सपना पूरा करेंगे। साद्विक के पिता इलाके में अखबार बेचने का काम करते हैं। जबकि उनकी माता गृहणी हैं। उनका एक छोड़ा भाई भी है जो इलेक्ट्रिशियन में आईटीआई कर रहा है। घर की आर्थिक स्थित ठीक ना होने व संसाधनों के अभाव के बावजूद साद्विक ने हिम्मत नहीं हारी और बिना कोचिंग के नीट परिक्षा को पास किया। 

पहले अटेम्प्ट में मिली थी हार

मिली जानकारी के मुताबकि साद्विक पहली बार इस परीक्षा को पास करने में असफल रहे थे परंतु उसने हार नहीं मानी। अपने डॉक्टर बनने के सपने को पूरा करने के लिए उसने दोबारा इस टेस्ट की तैयारी शुरु की और इस में सफलता हासिल कर अपने इलाके सहित पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया। 

नौंवी, दसवीं में खुद बेच चुके हैं अखबार

बेटे की इस उपलब्धि पर साद्विक के पिता रविकांत का कहना है कि उन्हें अपने बेटे पर नाज है। उन्होंने बताया कि साद्विक ने घर पर ही नीट परीक्षा की तैयारी की है। उनसे प्राप्त जानकारी के मुताबिक साद्विक जब नौवीं व दसवीं कक्षा में था तो सुबह जल्दी उठकर अखबार बेचने जाया करता था। 

इस दौरान उसके पिता ने उसे यह काम छोड़ने व पढ़ाई पर ध्यान देने की बात कही। उन्होंने बताया कि साद्विक ने दसवीं में 93 और जमा दो की परीक्षा में 95 फीसदी अंक हासिल किए हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ