हिमाचल का दानवीर: देर रात अस्पताल पहुंचा युवक, रक्तदान कर बचाई दो जिंदगियां

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल का दानवीर: देर रात अस्पताल पहुंचा युवक, रक्तदान कर बचाई दो जिंदगियां


कांगड़ा।
रक्तदान को महादान क्यों कहा जाता है, इसी हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के रहने वाले एक युवक ने साबित कर दिखाया है। जी हां, रोहित नामक एक युवक ने टांडा मेडिकल कॉलेज में आपात स्थिति का पता चलने के बाद देर रात अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया और दो दो मरीजों की जान का मसीहा बन गया। 

मिली जानकारी के अनुसार टांडा मेडिकल कालेज अस्पताल में ममता नाम की महिला मरीज को आपातकालीन स्थिति में प्रसव के लिए अस्पताल लाया गया और यहां पर एबी नेगेटिव रक्त की अति आवश्यकता थी। ऐसे में हिमालयन सेवियर्स को जैसे ही आपातस्थिति का पता चला तो रोहित नामक यह युवक अस्पताल पहुंचा और स्वेच्छा से रक्तदान किया। 

साढ़े दस बजे रात में अस्पताल पहुंच गया रोहित 

हिमालयन सेवियर हरीश ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि रात दस बजे रक्त की सूचना उनके ग्रुप के पास आई। जिसके बाद साढ़े दस बजे रोहित ने अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया। उन्होंने कहा रोहित ने मां व बच्चे की जान को बचाने के लिए रक्तदान किया। इसलिए यह बड़ी बात है। 

बकौल हिमालयन सेवियर हरीश, ग्रुप में रक्त की मांग का संदेश डालना आसान है पर मौके पर पहुंच कर उपलब्ध करवाना बड़ी बात है। सेवियर्स ग्रुप इस दिशा में लगातार काम कर रहा है। सभी स्वयंसेवी एक कदम आगे बढ़ा रहे हैं। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ