सरकार की खिलाफत का मिला इनाम: कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सहित 10 पदाधिकारियों का ट्रांसफर

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

सरकार की खिलाफत का मिला इनाम: कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सहित 10 पदाधिकारियों का ट्रांसफर


शिमला:
हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार के खिलाफ उतरे कर्मचारियों पर गाज गिरना शुरू हो गई है। सरकार ने संयुक्त कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सहित 10 पदाधिकारियों को दूर-दराज के क्षेत्रों में ट्रांसफर किया है। यह सभी शिक्षा विभाग के हैं। शिक्षा सचिव की ओर से इनके ट्रांसफर ऑर्डर भी जारी कर दिए हैं। 

जानें किसका-किसका ट्रांसफर हुआ 

  • संयुक्त कर्मचारी महासंघ व हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ के अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान को शिमला से चम्बा के चांजू (तीसा) के लिए ट्र्रांसफर किया
  • सुरेंद्र शर्मा को शिमला के घूंड स्कूल से चम्बा के बडग्रां स्कूल भेजा
  • शिक्षा विभाग की ओर से अरूण गुलेरिया को मंडी से शिमला के दूर दराज क्षेत्र में भेजा
  • सचिन कुमार को कांगड़ा से शिमला
  • कैलाश ठाकुर को शिमला के कांगल स्कूल भेजा 

इसके अलावा शिक्षा विभाग ने अन्य 5 शिक्षकों के भी ट्रासंफर ऑर्डर जारी किए हैं। 

और शिक्षकों पर भी कार्रवाई कर सकता है विभाग

सूत्रों की मानें तो शिक्षा विभाग और शिक्षकों पर भी ऐसी कार्रवाई कर सकता है। इसके अलावा अन्य विभाग भी कर्मचारियों पर इस तरह की कार्रवाई करने जा रहे हैं। महासंघ के पदाधिकारियों का आरोप है कि जो शिक्षक या कर्मचारी ओपीएस की बहाली व वेतन आयोग की विसंगतियों को लेकर दिए गए धरना प्रदर्शन में शामिल रहे हैं, उनके खिलाफ ऐसी कार्रवाई की जा रही है।

जहां मर्जी भेज दो, कर्मचारियों के हक की लड़ते रहेंगे : वीरेंद्र चौहान

महासंघ के अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान का कहना है कि पदाधिकारियों को एडमिनिस्ट्रेटिव ग्राऊंड का आधार बनाकर दूरदराज के क्षेत्रों में ट्रांसफर इसलिए किया जा रहा है, ताकि कर्मचारियों के मुद्दों को दबाया जा सके और आंदोलन को निरस्त किया जा सके। उन्होंने कहा है कि प्रदेश के किसी भी कोने में भेज दो, कर्मचारियों के हक की लड़ाई जारी रहेगी। ओपीएस बहाली की मांग पहले की तरह उठाई जाएगी। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ