हिमाचल में अपने चहरे का ऐलान करने जा रही आम आदमी पार्टी: पुराने कार्यकर्ताओं को है यह दुःख

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में अपने चहरे का ऐलान करने जा रही आम आदमी पार्टी: पुराने कार्यकर्ताओं को है यह दुःख


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के पडोसी राज्य पंजाब में हाल ही में चुनाव संपन्न हुए हैं। जहां पर अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी ने एतिहासिक बहुमत हासिल करते हुए अपनी सरकार बनाई है। वहीं, अब पंजाब में अपना घर बसाने के बाद आम आदमी पार्टी का अगला निशाना हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव हैं। पंजाब से सटा राज्य होने की वजह से 'आप' वाले इसे सॉफ्ट और ईजी टारगेट मान कर आगे बढ़ रहे हैं। 

इस बीच खबर यह भी है कि आप के मुखिया और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल अपने शागिर्द और पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ आगामी 6 अप्रैल को हिमाचल के दौरे पर सीएम जयराम ठाकुर के गृह जिले मंडी आ रहे हैं। ये दोनों यहां पर रोड शो करेंगे, जिसे लेकर तैयारियों का दौर भी शुरू हो गया है। वहीं, माना यह भी जा रहा है कि मंडी रैली में 'आप' के ये वरिष्ठ नेता पार्टी के चेहरे की घोषणा करेंगे और उसके बाद चुनावी गतिविधियां तेज करेंगे।

पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं को है यह दुःख 

पंजाब का किला फतह करने के बाद आम आदमी पार्टी का हिमाचल में स्वागत हो रहा है। अपने भविष्य को भाजपा व कांग्रेस में सुरक्षित न देख चिंतित नेता भाजपा व कांग्रेस का दामन छोड़कर आप की राह पकड़ रहे हैं। ऐसे में हिमाचल प्रदेश में नए सदस्यों की एंट्री ने हिमाचल में आम आदमी पार्टी का कुनबा बढ़ा दिया है। 

हालांकि, कई स्थानों पर पुराने पदाधिकारी व आप के कर्मठ कार्यकर्ता जो पिछले कई सालों से हिमाचल में आप के बीज को पानी व खाद दे रहे थे उन्हें कुछ अच्छा नहीं लग रहा है। उन्हें ऐसा लग रहा है कि भाजपा व कांग्रेस से टूटकर आप में आने वाले लोगों से समानांतर आम आदमी पार्टी का अभाव पुराने कार्यकर्ताओं को हो रहा है। इस लिए जो भी नए लोग आ रहे हैं वह पहले से घोषित कार्यकारिणियों व पदाधिकारियों का मान करें।

आप के संगठन में होगा बड़ा बदलाव 

आम आदमी पार्टी के संस्थापक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की एक टीम इन दिनों शिमला, बिलासपुर व मंडी और कांगड़ा के दौरे पर है। यह टीम लगातार उन लोगों के संपर्क में है जो पार्टी के साथ जुडऩा चाहते हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्टी मंडी रैली से पूर्व प्रदेश के संगठन में फेरबदल करेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ