बीजेपी का 4 राज्यों में मिशन रिपीट: क्या हिमाचल भी रचेगा नया इतिहास- समझें समीकरण

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

बीजेपी का 4 राज्यों में मिशन रिपीट: क्या हिमाचल भी रचेगा नया इतिहास- समझें समीकरण


शिमला:
चार राज्यों में इतिहास दुहराने के बाद अब हिमाचल प्रदेश में बजी नया इतिहास गढ़ने की कवायद शुरू हो गई है। बीजेपी का डाउन हुआ आत्मविश्वास फिर से हाई हो गया है। वहीं, पंजाब में मिली जीत से आम आदमी पार्टी भी हिमाचल में जमीन बनाने की तैयारी तेज करने जा रही है। 

उत्तराखंड में भी मिशन रिपीट सफल 

उत्तराखंड में पहली बार सरकार रिपीट हुई है। हालांकि, पिछले साल भर में उत्तराखंड की जनता ने दो नए मुख्यमंत्री देखे, जिसके बाद से लग रहा था कि इस पहाड़ी राज्य में भाजपा की डगर मुश्किल होगी। लेकिन बीजेपी दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार में आ गई। 

हालांकि, वर्तमान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी सेट से चुनाव हार गए। पहले चार साल तक त्रिवेन्द्र सिंह रावत मुख्यमंत्री रहे। जिसके बाद अंतिम साल में तीरथ सिंह धामी को नेतृत्व दिया गया और फिर कुछ ही दिनों बाद पुष्कर के हाथ में सरकार की कमान आई थी। 

नड्डा और अनुराग के कद का भी रहेगा दबाव 

चुनाव परिणाम आने के बाद से नतीजों को हिमाचल में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। राजनीतिक विश्लेषक मान रहे हैं कि भाजपा के हिमाचल जीतना प्रमुख प्राथमिकता है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश से आते हैं। साथ ही अनुराग ठाकुर का भी केंद्र में बड़ा कद है। पार्टी आलाकमान ने जैराम ठाकुर पर काफी भरोसा दिखाया है। साथ ही उनकी हर मांग को भी प्रधानमंत्री मोदी ने पूरा किया।

बदलाव के साथ लड़ेगी भाजपा 

सूत्रों के हवाले से खबर यह भी सामने आ रही है कि अगले एक दो दिनों में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर दिल्ली के लिए निकल सकते हैं। जहां उनकी मुलकात पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के साथ होनी है।

बैठक में हिमाचल प्रदेश के संगठन और मंत्रीमंडल में बदलाव को लेकर अहम निर्णय लिए जा सकते हैं। वहीं, एकतरफ चर्चा यह भी है कि भाजपा बड़े पैमाने पर सिटिंग विधायकों का टिकट काटने जा रही है। ऐसे में कई नामों पर चर्चा हो सकती है और उसी अनुसार कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी जाएगी।

आप तो बस पंजाब तक हैं- पहाड़ से फिसल जाएंगे 

वहीं, दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी भी पंजाब से सटे इलाकों में अपनी जमीन तलाशनी शुरू कर दी है। ऊना और चंबा जैसे जिले अरविन्द केजरीवाल की टॉप लिस्ट में शामिल हो सकती है। जहां पार्टी की विशेष नजर होगी। 

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी सभी सीटों पर चुनाव लड़ी थी। लेकिन एक भी सीट पर जीत नसीब नहीं हुई। कई उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है। ऐसे में केजरीवाल एंड टीम की हिमाचल प्रदेश में बेहतर करने की प्लानिंग होगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ