बजट एक-उम्मीद अनेक: आउटसोर्स कर्मियों और SMC शिक्षकों को उम्मीदें, रोजगार समेत ये अपेक्षाएं भी

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

बजट एक-उम्मीद अनेक: आउटसोर्स कर्मियों और SMC शिक्षकों को उम्मीदें, रोजगार समेत ये अपेक्षाएं भी


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में 4 मार्च यानी कल शुक्रवार के दिन विधानसभा में सरकार द्वारा पांचवा बजट पेश किया जाना है। चुनावी वर्ष में पेश होने वाला ये बजट कई मायनों में अहम माना जा रहा है। हर साल की तरह इस बार भी जयराम सरकार बजट में नई योजनाओं को शामिल कर सकती हैं। इन योजनाओं के तहत लक्षित वर्ग को लाभ मिलेगा। इसके अलावा ऑउटसोर्स पर तैनात कर्मियों व एसएमसी शिक्षकों को भी नए बजट से काफी अपेक्षाएं हैं। 

बता दें कि इससे पहले भी जयराम सरकार बजट में कई योजनाएं शुरु करने का जोखिम उठा चुकी है। साल 2018 में पेश हुए पहले बजट में सरकार ने 30 नई योजनाएं शुरु की थी। इसके उपरांत 2019 में प्रस्तुत हुए दूसरे बजट में 15 योजनाएं,  2020 में पेश हुए तीसरे बजट में 10 तथा 2021 में पेश हुए चौथे बजट में 12 नई योजनाएं शुरु की गई थी। 

नए बजट में होगा ये सब

  • चुनावी वर्ष में पेश हो रहे नए बजट से प्रदेश के विभिन्न विभागों में तैनात 40 हजार आउटसोर्स कर्मचारियों को काफी उम्मीदें हैं। 
  • इनके अलावा शिक्षा विभाग में कार्यरत 2555 एसएमसी शिक्षकों की भी निगाहें बजट पर टिकी हैं। 
  • नए बजट में हजारों अस्थायी खुद के लिए राहत की आस में है।  
  • प्रदेश के विभिन्न विभागों में आउटसोर्स कर्मचारियों को भी नए बजट से उम्मीदें हैं। 
  • इसी तरह शिक्षा विभाग में एमएमसी शिक्षकों की नियुक्ति संबंधित प्रावधान भी बजट में हो सकता है। 
  • इसके अलावा अस्थायी कर्मचारियों के कई अन्य वर्गों को भी चुनावी साल के इस नए बजट से राहत मिलने की उम्मीद है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ