हिमाचल में पूर्व सैनिक से ठगी: साल भर में धीरे-धीरे कर दे दिए 10 लाख 45 हजार 173 रुपए

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में पूर्व सैनिक से ठगी: साल भर में धीरे-धीरे कर दे दिए 10 लाख 45 हजार 173 रुपए


बिलासपुरः
हिमाचल प्रदेश में एक पूर्व सैनिक को नौकरी दिलाने का झांसा देकर शातिरों ने दस लाख से अधिक रुपयों की ठगी कर डाली। इस संबंध में अदालत की ओर से स्थानीय पुलिस थाना को आईपीसी की धारा 419, 420,34 व 120 बी के तहत केस दर्ज कर मामले की छानबीन करने के निर्देश दिए हैं। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचलः परिवार के साथ रहने के लिए बेहतर कॉलेज छोड़ शहर में लिया एडमिशन- बनेंगी डॉक्टर

ई-मेल पर भेजा नौकरी का संदेश 

मामले के संदर्भ में मुंशी राम पुत्र रामका राम निवासी गांव सियोहला डाकघर जुखाला ने जानकारी देते हुए बताया कि वह भूतपूर्व सैनिक हैं। उन्हें बीती 3 जनवरी 2021 को नौकरी संबधित एक ई-मेल आई। इसके तहत आरोपित ने उन्हें उनका पूरा बायोडाटा, फोटो व पासपोर्ट ई-मेल के माध्यम से भेजने को कहा। इस पर मुंशी राम ने आरोपित को अपने सारे दस्तावेज ई-मेल कर दिए।

यह भी पढ़ेंः जयराम कैबिनेट की बैठक संपन्न: यहां जानें 5 बड़े फैसले- 200 पदों पर भर्ती का भी निर्णय

इसके बाद 2 फरवरी 2021 को आरोपित ने मुंशी राम को एक अन्य व्यक्ति को अपने सारे दस्तावेज भेजने की बात कही। साथ ही ये भी कहा कि उक्त व्यक्ति ब्रिटिश एम्बेसी में हाई कमिश्नर के पद पर कार्यरत है। इसके उपरांत दूसरे शातिर ने पीड़ित शख्स से संपर्क साधा और कहा कि वह अपना आवेदन दोबारा भेजे साथ ही 30 हजार रुपए वीजा एप्लीकेशन फीस भी भेज दें। 

इस दौरान मुंशी राम ने बताए गए अकाउंट नंबर पर धनराशी डाल दी। धीरे-धीरे दोनों आरोपित उससे पैसे ऐंठते रहे। इस बीच जब मुंशी राम ने पैसे भेजने से इंकार कर दिया तो दूसरे आरोपित ने अपना फोन नंबर बंद कर दिया। इस बीच जब उन्होंने पहले शख्स से बात कि तो उसने उन्हें साक्षात्कार पत्र आने का भरोसा दिलाया। 

यह भी पढ़ेंः जयराम कैबिनेट: मल्टी टास्क भर्ती पर बड़ा निर्णय- अब CM की अनुसंशा पर नहीं भरेंगे पद

वहीं, जब मुंशी राम दिल्ली स्थित ब्रिटिश एम्बेसी में मामले की जांच करने पहुंचे। तो उन्होंने पाया कि दोनों आरोपितों का एम्बेसी से कोई लेना देना नहीं है। मुंशी राम का कहना है कि शातिरों ने उसके साथ 10 लाख 45 हजार 173 रुपए की ठगी की है। 

इस संबंध में पीड़ित शख्स ने पुलिस थाना में लिखित शिकायत भी दर्ज करवाई थी परंतु पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं, अब कोर्ट ने पुलिस को मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई अमल में लाने के निर्देश दिए हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ