CM जयराम ने 25 दिन पहले दिखाई थी झंडी: अब तक 150 km दूर नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

CM जयराम ने 25 दिन पहले दिखाई थी झंडी: अब तक 150 km दूर नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में आज भी ऐसे दुर्गम क्षेत्र हैं जहां के लोग एंबुलेंस सेवा से वंचित है। मामला प्रदेश की राजधानी शिमला के चौपाल उपमंडल के तहत आते कुपवी का है। जहां बीते दो सालों से एंबुलेंस नहीं पहुंची है। यहां तक की बीती 8 फरवरी को सीएम जयराम ठाकुर द्वारा खुद हरी झंड़ी दिखाकर एक एंबुलेंस को कुपवी क्षेत्र के लिए रवाना भी किया गया था। परंतु आज 25 दिन बीतने के बाद भी एंबुलेंस सही ठिकाने पर नहीं पहुंच पाई है। 

यह भी पढ़ेंः सदन में वीरभद्र पर कमेंट: भड़के विक्रमादित्य बोले- अपनी खिलड़ी में रहें मंत्री, जवाब भी मिला

पंजाब नेशनल बैंक से मांगी मदद

मिली जानकारी के मुताबिक कुपवी क्षेत्र की 15 पंचायतों के हजारों लोग एंबुलेंस सेवा से वंचित हैं। स्थानीय लोगों द्वारा कई मर्तबा सरकार व स्थानीय प्रशासन से भी मदद की गुहार लगाई परंतु कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं, जब उन्हें किसी से कोई मदद नहीं मिली तो उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक के सीएसआर के तहत सहायता मांगी। 

पार्किंग में धूल फांक रही एंबुलेंस

इस पर बैंक प्रबंधन ने लोगों की मांग को जायज समझते हुए उनकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया। इस पर उन्होंने एक एंबुलेंस खरीद कर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सौंप दी। इस दौरान बीती 8 फरवरी को सीएम जयराम ने अपने सरकारी आवास से हरी झंडी दिखाकर एंबुलेंस को कुपवी के लिए रवाना किया। परंतु 25 दिन बीत जाने के बाद भी एंबुलेंस राजधानी से 150 किलोमीटर दूर कुपवी नहीं पहुंची। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचल: इंटरव्यू दिजिए-नौकरी मिलेगी, 8वीं पास को भी मौका- यहां जानें पूरी डिटेल

हैरत की बात तो ये है कि एबुलेंस शिमला की एक पार्किंग में धूल फांक रही है। बात एंबुलेंस सेवा की ही नहीं है। कुपवी क्षेत्र में अस्पताल भवन के निर्माण का काम बीते 2017 से चल रहा है। परंतु 5 साल बीत जाने के बाद भी काम पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे में प्रशासन व सरकारी तंत्र एक बार फिर सवालों के घेरे में खड़ा हो गया है। आखिरकार कब तक शासन व प्रशासन की लापरवाहियों का खामियाजा आम जनता को झेलना पड़ेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ