हिमाचल में भ्रष्टाचार: जबरन वसूली कर रहा था फारेस्ट गार्ड, विजिलैंस टीम ने ऐसे पकड़ा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में भ्रष्टाचार: जबरन वसूली कर रहा था फारेस्ट गार्ड, विजिलैंस टीम ने ऐसे पकड़ा


ऊना।
हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में विजिलेंस की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। यहां विजिलेंस की टीम ने एक भ्रष्टाचारी फारेस्ट गार्ड को जबरन वसूली करते हुए धर दबोचा है। आरोपी फारेस्ट गार्ड गगरेट पंजाब की सीमा पर स्थित चेक पोस्ट पर तैनात था और फ्यूल वुड लेकर पंजाब जा रहे वाहनों से जबरन उगाही किया करता था। 

पास से बरामद हुए हजारों रुपए 

आरोपी के पास से साढ़े 14 हजार रुपए की नकदी भी बरामद की गई है। वहीं, यह पैसे कहां से आए, इसे लेकर भी गार्ड कोई तसल्ली बख्श जवाब नहीं दे पाया। विजिलेंस की टीम ने फारेस्ट गॉर्ड के विरुद्ध भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर फारेस्ट गार्ड को गिरफ्तार कर लिया है।

शिकायत मिलने के बाद लिया गया एक्शन 

राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के डीएसपी अनिल मेहता ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कई दिनों से ये शिकायत मिल रही थी कि गगरेट स्थित फॉरेस्ट चेक पोस्ट पर परमिट के साथ पंजाब को फ्यूल वुड लेकर जाने वाले वाहनों से जबरन वसूली की जाती है। ऐसे में इसी सूचना के आधार पर विजिलेंस की टीम के दो सदस्य चालकों के वेश में फ्यूल वुड लेकर जा रहे वाहनों के साथ चेक पोस्ट पर गए। 

वहां पर जब परमिट एंट्री करने लगे तो वहां तैनात फारेस्ट गॉर्ड राकेश कुमार ने उन्हें बैरियर पार करवाने के पैसे ले लिए। इसके बाद जब चेक पोस्ट की दो गवाहों की मौजूदगी में तलाशी ली गई, तो वहां से साढ़े चौदह हज़ार रुपए बरामद हुए। गौरतलब है कि नियमानुसार इस चेक पोस्ट पर न तो किसी प्रकार की पर्ची काटी जा सकती है और न ही कोई उगाही की जा सकती है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ