'वीरभद्र का लड़का क्या समझेगा गरीबों का दर्द, जिसका टर्न ओवर करोड़ों में हो'

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

'वीरभद्र का लड़का क्या समझेगा गरीबों का दर्द, जिसका टर्न ओवर करोड़ों में हो'


चंबा:
चुनावी वर्ष शुरू होते ही हिमाचल प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। आरोप प्रत्यारोप और ज़ुबानी हमले तेज हो गए हैं। ताजा प्रकरण में विक्रमादित्य सिंह पर डिप्टी स्पीकर डॉ हंस राज बड़ा हमला बोला है। साथ ही उन्होंने डलहौजी विधायक आशा कुमारी को भी आड़े हाथ लिया है।

यह भी पढ़ेंः जयराम कैबिनेट की अगली बैठक 14 को: पुरानी पेंशन समेत ये सात फैसले लेगी सरकार, जानें

बता दें कि डिप्टी स्पीकर डॉ हंस राज अपने चुराह विधानसभा क्षेत्र में एसपीओ कर्मियों के साथ संवाद कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अपने दो बार के लगातार विधायिकी में किए कार्यों का लोखा जोखा देते हुए कांग्रेस पर जमकर बरसे। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि गरीब का दर्द वही समझ सकता है जिसने गरीबी देखी हो।

डिप्टी स्पीकर ने की थी पैरवी अगले दिन ही बढ़ गया था मानदेय 

गौरतलब है कि हाल ही में सीएम जयराम द्वारा बजट पेश किए जाने से एक दिन पूर्व डिप्टी स्पीकर एसपीओ कर्मियों के साथ सीएम से मिलने गए थे। जहां उन्होंने एसपीओ कर्मियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ उनकी बात सरकार तक पहुंचाई थी और अगले ही दिन सीएम द्वारा बजट पेश करते हुए इन कर्मियों का मानदेय बढाने का ऐलान किया गया था। 

आशा कुमारी ने अनसुनी कर दी थी बात 

इसी मसले का जिक्र करते हुए उन्होंने आज जनसभा में बताया मैंने एक बार आशा कुमारी से कहा- आपके और हमारे विधानसभा समेत पांगी और लाहुल में एसपीओ कर्मी लोग हैं। ऐसे में हम अगर एक साथ उनकी बात सरकार के सामने रखेंगे तो बात का प्रेशर बनेगा, लेकिन वो नहीं मानीं। 

विक्रमादित्य को भी आड़े हाथों लिया 

इसी बात को लेकर विक्रमादित्य ने तंज कसते हुए कहा कि एक आम आदमी परिवार कैसा चलाता है वो शायद मैडम को भी पता नहीं चला, जो कि सच्चाई है। डॉ हंसराज ने आगे कहा कि जो बड़े घर में पैदा हुआ हो, उसे गरीबों का दुःख कैसे पता होगा। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचलः उप-प्रधान हड़प रहा था मनरेगा मजदूरों का पैसा, DC ने लिया एक्शन; पद से हटाया

इसी दौरान डॉ हंसराज ने विक्रमादित्य हमला बोलते हुए कहा कि कल्पना कीजिए कि क्या वीरभद्र का लड़का हमारी दुःख तकलीफ को समझ सकता है। जिसका साल का करोड़ों का टर्नआउट हो उसे क्या पता होगा 1500 क्या होता है। 3000 क्या होता। 6000 क्या होता है। हजार रुपए का बढ़ना क्या होता है। डिप्टी स्पीकर ने आगे कहा कि हमें हर्ष है कि सीएम जयराम ने हमारे अनुरोध को स्वीकारा और सौगात दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ