भारी पड़ी भिडंत: सैकड़ों प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में FIR

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

भारी पड़ी भिडंत: सैकड़ों प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में FIR


शिमला।
हिमाचल में सवर्ण आयोग के गठन की मांग को लेकर बीते कल प्रदेश भर में माहौल तनावपूर्ण बना रहा। सूबे की राजधानी शिमला समेत अन्य कई जगहों आयोग के गठन की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई।  

एएसपी समेत कुल नौ पुलिसकर्मी घायल हुए

बतौर रिपोर्ट्स, राजधानी शिमला के अलावा सोलन, सिरमौर, बिलासपुर समेत प्रदेश के कई अन्य जिलों में प्रदर्शन के दौरान पुलिस व कई अन्य वाहनों पर इन प्रदर्शनकारियों द्वारा पथराव किया गया। अब खबर है कि इस पूरे बवाल के दौरान एक एएसपी समेत कुल नौ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

सिरमौर में 120 लोगों पर एफ़आईआर 

ऐसे में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए बालूगंज थाने में हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। इसी तरह सिरमौर के ददाहू में भी 120 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। वहीं, बिलासपुर जिले में तो 19 घंटे तक देवभूमि क्षत्रिय संगठन का महासचिव योगेश ठाकुर हिरासत में रखा गया। इसके साथ ही साथ संगठन से जुड़े तीन अन्य सदस्यों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया।

धारा 144  का उल्लंघन कर मचाया उपद्रव 

गौरतलब है कि शिमला शहर के विभिन्न स्थानों पर धारा 144 लागू थी। इसके बावजूद भी देवभूमि क्षत्रिय संगठन और देवभूमि सवर्ण संगठन से जुड़े प्रदर्शनकारियों ने कई जगह धारा 144 तोड़ी। वहीं, राजधानी शिमला में पांच घंटे तक प्रदर्शन जारी रहा।

वहीं, इससे पहले सिरमौर से शिमला रैली में जा रहे देवभूमि क्षत्रिय संगठन के कार्यकर्ताओं और पुलिस की मंगलवार रात को दो सड़का के समीप भी झड़प हुई। नाहन, शोघी और तारादेवी में भी प्रदर्शनकारी पुलिस से उलझे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों के पथराव में पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके अलावा उग्र भीड़ ने क्रॉसिंग के पास लगे मुख्यमंत्री के होर्डिंग फाड़ दिए, बैरिकेड तोड़ दिए। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ