हिमाचल बजट: ऑउटसोर्स, पैरावर्कर्स, आशा-आंगनबाड़ी, SMC समेत इन 20 वर्गों का मानदेय बढ़ा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल बजट: ऑउटसोर्स, पैरावर्कर्स, आशा-आंगनबाड़ी, SMC समेत इन 20 वर्गों का मानदेय बढ़ा


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर अपने कार्यकाल का आखिरी एवं पांचवां बजट पेश कर रहे हैं। मुख्‍यमंत्री ने 11:02 बजे बजट पढ़ना शुरू किया। मुख्यमंत्री की पत्नी साधना बजट भाषण सुनने विधानसभा सदन पहुंची हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप भी वीवीआईपी गैलरी में मौजूद हैं। 

चुनावी साल वाले बजट भाषण में सीएम जयराम ने सभी वर्गों का ध्यान रखते हुए बड़े ऐलान किए हैं। 

मानदेय बढ़ाने की घोषणा

  • आंगनाबाड़ी कार्यकताओं को 9000 रुपये प्रतिमाह मानदेय। 
  • मिनी आंगनाबाड़ी कार्यकताओं को 6100 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • आंगनाबाड़ी सहायिका को 4700 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • आशा वर्कर्स को 4700 रुपये प्रतिमाह मानदेय। 
  • सिलाई अध्यापिकाओं को 7950 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • मिड डे मील वर्कर्स को 3500 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • वाटर कैरियर शिक्षा विभाग 3900 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • जल रक्षक को 4500 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • जलशक्ति मल्टी पर्पज वर्कर्स 3900 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • पैरा फिटर, पंप ऑपरेटर को 5550 रुपये प्रतिमाह मानदेय।
  • दिहाड़ीदारों को दिहाड़ी 50 रुपये बढ़ाई।
  • आउटसोर्स को अब न्यूनतम 10500 प्रति माह मिलेंगे।
  • पंचायत चौकीदार को 6500 रुपये प्रति माह।
  • राजस्व चौकीदार को 5000 रुपये प्रति माह।
  • राजस्व लंबरदार को 3200 रुपये प्रति माह।
  • एसएमसी का मानदेय 1000 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा, यथावत सेवाएं जारी रहेंगे। इन्हें नहीं हटाया जाएगा। नीति बनाने पर विचार होगा।
  • आईटी टीचर को 1000 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा।
  • एसपीओ को 900 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा।
  • राजस्व चौकीदार को 5000 रुपये और राजस्व लंबरदार को 3200 रुपये प्रति माह मिलेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ