हिमाचल: बेटा हो तो ऐसा- मां की बरसी पर लाखों खर्च कर बनवाई वर्षाशालिका, पेशे से शिक्षक हैं

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: बेटा हो तो ऐसा- मां की बरसी पर लाखों खर्च कर बनवाई वर्षाशालिका, पेशे से शिक्षक हैं


सिरमौरः
हिमाचल प्रदेश में आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो लोकहित के लिए काम करते हैं, फिर उन्हें ये फर्क नहीं पड़ता की कोई उनकी मदद करे या ना करे। इसी तरह का एक मामला सिरमौर जिले के नाहन विधानसभा क्षेत्र में देखने को मिला है। जहां एक अध्यापक ने अपनी मां की पुण्यतिथि पर वर्षाशालिका का निर्माण करवाया है। 

अक्सर लोगों को देखा मुश्किलों से जूझते

जी हम बात कर रहे है नाहन विधानसभा क्षेत्र के तहत आते कठाना के रहने वाले शिक्षक तेजवीर सिंह की। जो वर्तमान में मलगांव में सीएचटी के पद पर तैनात हैं। बता दें कि रेणुका जी मार्ग पर दोसड़का से जमटा तक कोई वर्षाशालिका ना होने के चलते लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता था।

डेढ़ लाख रुपए की लागत से बना रेनशेल्टर

यहां तक की कई बार लोगों को बारिश तो कभी तेज गर्मी में बस का इंतजार करने के लिए विविश होते थे। ऐसे में वे तेज धूप से बचने के लिए कभी पेड़ों की पनाह लेते हैं तो पनाह के लिए कोई और साधन की तलाश करते थे। इन्ही सब चीजों को मद्देनजर रखते हुए तेजवीर सिंह ने करीब डेढ़ लाख की लागत से बने एक रेनशेल्टर का निर्माण करवाया है। 

कई मुश्किलों का सामना भी किया

खास बात तो ये है कि उन्होंने वर्षाशालिका का निर्माण अपनी मां रेवती देवी की पुण्यतिथि पर करवाया है। हालांकि, इस दौरान उन्हें कई सारी सरकारी औपचारिकताओं से गुजरना पड़ा। यहां तक की उन्हें पंचायत तथा लोक विभाग की एनओसी हासिल करने में भी काफी मुश्किल हुई। बावजूद इसके उन्होंने सब बाधाओं को दरकिनार करते हुए इलाके में वर्षाशालिका का निर्माण करवाया। वहीं, लोगों द्वारा उनके इस पुण्य काम के लिए काफी सराहा जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ