हिमाचलः परिवार के साथ रहने के लिए बेहतर कॉलेज छोड़ शहर में लिया एडमिशन- बनेंगी डॉक्टर

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचलः परिवार के साथ रहने के लिए बेहतर कॉलेज छोड़ शहर में लिया एडमिशन- बनेंगी डॉक्टर


सोलनः
आज कल के युवा बेहतर शिक्षा तथा अपने करियर बनाने के लिए अपने घर परिवार को छोड़कर बाहर देश का रुख करते हैं। वहीं, दूसरी ओर कुछ युवा ऐसे भी हैं जो अपने क्षेत्र में ही रहकर लोगों की मदद करना चाहते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है सोलन शहर की रहने वाली सुहानी अरोड़ा ने। 

नाहन कॉलेज में लिया एडमिशन

बता दें कि पहली ही बारी में नीट परीक्षा को अच्छे अंकों से उत्तीर्ण कर सुहानी अरोड़ा का चयन आगामी पढ़ाई के लिए नेरचौक मेडिकल कॉलेज में हुआ। परंतु सुहानी ने इस अवसर को ठुकराते हुए लो रैंकिंग वाले कॉलेज में एडमिशन लिया है। 

घर के पास पढ़ना चाहती थीं

बताया जा रहा है कि सुहानी अपने माता-पिता व भाई-बहन के साथ ही रहना चाहती थीं और यही वजह है कि उन्होंने नेरचौक कॉलेज को छोड़कर नाहन मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया है। यही कारण है कि उन्होंने अपनी सफलता को किसी के साथ भी साझा नहीं किया था। 

वहीं, अब काउंसलिंग के दौरान उन्हें नाहन मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिला है। सुहानी काफी खुश हैं ना तो अब वे अपने परिवार से दूर रहेंगी यहां तक की अब पे अपने छोटे भाई-बहनों के मार्गदशन के लिए भी हमेशा मौजूद रहेंगी।  

जानें क्या बोलीं सुहानी अरोड़ा

इस संबंध में जानकारी देते हुए सुहानी अरोड़ा कहती हैं कि उनके माता-पिता अलग-अलग दुकानें संभालते हैं। वे अपने भाई-बहन तथा माता-पिता से दूर नहीं जाना चाहती थी। सुहानी कहती हैं कि अब वो बेहद खुश है कि उसे अपने ही शहर में एमबीबीएस की पढ़ाई करने का अवसर मिल गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ