हिमाचल में चल क्या रहा है: 2 महीने से घर में खड़ी गाड़ी का 14 बार चालान काट दिया

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में चल क्या रहा है: 2 महीने से घर में खड़ी गाड़ी का 14 बार चालान काट दिया


हमीरपुरः
हिमाचल प्रदेश में अक्सर कई बार देखने को मिला है जहां पुलिस कर्मियों ऐसे वाहनों का चालान काट दिया जाता है जो या तो घर पर खड़े होते हैं या फिर काफी समय से इस्तेमाल में नहीं होते। इस बात का पता लोगों को तब चलता है जब उन्हें घर पर न्यायालय की ओर से समन आते हैं। 

दो माह में 14 वार कटा चालान

इसी तरह का एक वाक्या हमीरपुर जिले के वार्ड नंबर-8 के रहने वाले विजय कुमार के साथ पेश आया है। जिनके वाहन का विभाग की ओर से बीते दो माह के भीतर करीब 14 बार चालान काटा गया है। यहां तक की सोचने वाली बात तो ये है कि जब पूरे देशभर में 2020 में लॉकडाउन लगा हुआ था इस दौरान भी इनकी बाइक का चालान काटा गया था। हालांकि, इस दौरान सड़कों पर किसी को भी बिना बात घूमने की मनाही थी। बावजूद इसके पुलिस विभाग की ओर से विजय कुमार की मोटरसाइकिल का चालान काटा गया।

लगातार चालान कटने से हैं परेशान

इस संबंध में जानकारी देते हुए विजय कुमार कहते हैं कि उन्होंने अपनी पत्नी रंजना के नाम पर एक मोटरसाइकिल खरीदा है। परंतु पुलिस द्वारा लगातार चालान काटे जाने के कारण वह काफी परेशान है। उनका कहना है कि पुलिस ने मात्र दो महीनों के भीतर ही उनके 14 चालान काटे हैं। 

न्यायालय से आया समन

जबकि, बीते 8, 9 व 21 मार्च को बाइक का चालान काटने के बाद उन्हें हमीरपुर न्यायालय से वारंट जारी हो गए हैं। वे कहते हैं कि अभी तक वह करीब 8 चालान भुगत चुके हैं। वे इस बात से परेशान हैं कि आखिरकार उनके इतने चालान कित बात के लिए काटे जा रहे हैं, जबकि अधिकतर समय उनकी बाइक घर पर ही खड़ी रहती है। 

हेलमेट भी पहनते हैं, कागजात भी रखते

लेकिन हां कभी कबार वे बाजार से सामान लाने के लिए वाहन का इस्तेमाल करते हैं परंतु उस समय वह हेलमेट पहनते हैं तथा लाइसेंस समेत अन्य जरुरी कागजात भी साथ में ही रखते हैं। परंतु फिर भी उनका चालान काटे जा रहे हैं। 

इस संबंध में जब वे शिकायत लेकर पुलिस अधीक्षक हमीरपुर के पास गए तो वहां मौजूद एक कर्मचारी ने उन्हें कहा कि उन्हें ये चालान भुगतने ही पड़ेंगे। उधर, इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हमीरपुर विजय सकलानी ने बताया कि अभी तक इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई है। शिकायत मिलने के बाद जांच की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ