हिमाचल की बेटी: बचपन से देखा सेना में जाने का सपना, अब लेफ्टिनेंट बनी सिमरन

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल की बेटी: बचपन से देखा सेना में जाने का सपना, अब लेफ्टिनेंट बनी सिमरन


 शिमलाः हिमाचल प्रदेश के युवा अपनी मेहनत और लगन के दम पर अपने सपनों का साकर कर अपना व अपने क्षेत्र का नाम रोशन कर रहे हैं। ऐसा ही कर दिखाया है किन्नौर जिले के तहत आते गांव जानी की रहने वाली सिमरन मेहता ने। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचलः तीन महीने पहले चोरी की हुई कार को वापस लौटया, ईमानदार चोर की हो रही तलाश

बेस हॉस्पिटल दिल्ली में देंगी सेवाएं

बता दें कि सिमरन मेहता सेना में लेफ्टिनेंट बनी है। उनका चयन बेस हॉस्पिटल दिल्ली कैंट में हुआ है। जहां वे बतौर लेफ्टिनेंट अपनी सेवाएं दे रही हैं। उनकी इस उपलब्धि पर इलाके में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। सिमरन के पिता वीरेंद्र मेहता कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में कार्यरत है, जबकि उनकी माता सावित्री गृहणी है।

यह भी पढ़ेंः 51,365 करोड़ का बजट: जानें कहां कितना होगा खर्च और कहां से आएगा कितना पैसा- एक रिपोर्ट

पहली बार पास की एमएमएस की परीक्षा

मिली जानकारी के मुताबिक सिमरन मेहता ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पालमपुर के निजी संस्थान से ग्रहण की है। इसके बाद छठी से 12वीं तक की पढ़ाई एकलव्य आदर्श आवासीय स्कूल निचार से प्राप्त की। इसके उपरांत उन्होंने 12वीं कक्षा की परीक्षा के साथ-साथ अपने प्रथम प्रयास में ही एमएनएस की प्रवेश परीक्षा को पास कर सेना में प्रवेश कर लिया। 

यह भी पढ़ेंः CM जयराम का 51365 करोड़ वाला बजट: एक क्लिक में पढ़ें सभी महत्वपूर्ण ऐलान- पूरी डीटेल के साथ

माता-पिता व गुरुओं को दिया श्रेय

इसके उपरांत साल 2017 में प्रवेश परीक्षा पास कर कंमाण्ड हॉस्पिटल बैंगलोर से डिग्री हासिल की। वहीं, अब सिमरन बतौर लेफ्टिनेंट बेस हॉस्पिटल में अपनी सेवाएं दे रही हैं। वहीं, इस संबंध में जानकारी देते हुए सिमरन ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व अध्यापकों को दिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ