हिमाचल विश्वविद्यालय के पांच दिव्यांग शोधार्थियों को मिली केंद्रीय फेलोशिप, हर किसी को है गर्व

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल विश्वविद्यालय के पांच दिव्यांग शोधार्थियों को मिली केंद्रीय फेलोशिप, हर किसी को है गर्व


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहे पांच दिव्यांग शोधार्थियों का चयन केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली राष्ट्रीय फेलोशिप के लिए हुआ है। बता दें कि यह फेलोशिप केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से एमफिल तथा पीएचडी कर रहे विद्यार्थियों को मेरिट के आधार पर दी जाती है।

ये हैं चयनित छात्र

चयनित विद्यार्थियों में राजनीति विज्ञान विभाग की दृष्टिबाधित छात्रा प्रतिभा ठाकुर तथा चार शारीरिक दिव्यांग विद्यार्थी जिनमें शिक्षाशास्त्र के मुकेश कुमार, इतिहास विभाग के राजपाल, योग विभाग के संजय भैरव तथा वाणिज्य विभाग के हेम सिंह शामिल हैं। 

कुलपति ने दी बधाई

विद्यार्थियों के चयन पर हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति आचार्य एसपी बंसल ने खुशी व्यक्त करते हुए सभी विद्यार्थियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय को उन पर गर्व है। 

क्या बोले विवि के नोडल अधिकारी

उधर, इस संबंध में जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के विकलांगता मामलों के नोडल अधिकारी अजय श्रीवास्तव ने बताया कि हर वर्ष केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से मेरिट के आधार पर देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों से चुनिंदा 200 विद्यार्थियों को जूनियर रिसर्च फेलोशिप के समकक्ष फेलोशिप प्रदान की जाती है। उनमें से हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के पांच विद्यार्थियों को फैलोशिप मिलना गर्व की बात है। 

आदर्श संस्थान के तौर पर अभर रहा

उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए एक आदर्श संस्थान के तौर पर उभर रहा है। यहां विभिन्न विभागों में आठ विद्यार्थी जूनियर रिसर्च फेलोशिप प्राप्त कर पीएचडी कर रहे हैं। दिव्यांग विद्यार्थियों को विवि की ओर से निशुल्क शिक्षा तथा हॉल्टल उपलब्ध कराया जाता है। जबकि दृष्टिबाधित छात्र टॉकिंग सॉफ्टवेयर की मदद से कंप्यूटर पर अपनी पढ़ाई करते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ