हिमाचल युवा कांग्रेस प्रवक्ता ने इस्तीफ़ा: कहा- गरीब पदाधिकारी का सम्मान नहीं करती पार्टी

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल युवा कांग्रेस प्रवक्ता ने इस्तीफ़ा: कहा- गरीब पदाधिकारी का सम्मान नहीं करती पार्टी


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में राजनीति गरमाई हुई है। आमतौर पर जहां नेता चुनावी मौसम सिर पर आ जाने के बाद पाला बदलने का खेल शुरू किया करते थे। वहीं, इस बार सूबे में आम आदमी पार्टी की एंट्री होने के बाद यह राजनीतिक समीकरण काफी हद तक बिगड़ा-बिगड़ा सा नजर आने लगा है। पंजाब और दिल्ली जैसे राज्यों में कांग्रेस के पत्ते काटकर अपनी सरकार बनाने वाली आम आदमी पार्टी यहां भी सेंधमारी का काम करने में जुटी हुई है। 

इस्तीफे के साथ गंभीर आरोप भी मढ़े 

एक के बाद एक कांग्रेस के महत्वपूर्ण और युवा चेहरों द्वारा पाला बदलने के बाद हिमाचल की युवा कांग्रेस को एक और झटका लगा है। दरअसल, हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस के राज्य प्रवक्ता सुरेंद्र सिंह धर्मा ने अपने पड़ से इस्तीफ़ा दे दिया है। इसके साथ ही उन्होंने अपने इस इस्तीफे का कारण बताते हुए पार्टी पर गंभीर आरोप भी मढ़े हैं। 

गरीब पदाधिकारी का कोई मान-सम्मान नहीं

अपने इस्तीफे में धर्मा ने कहा कि वो कांग्रेस को धर्म निरपेक्ष व राष्ट्रीय एकता वाली पार्टी समझते थे, लेकिन ये सही साबित नहीं हुआ। उनके अनुसार कांग्रेस में आज गरीब पदाधिकारी का कोई मान-सम्मान नहीं है। उनका ये भी कहना है कि वो निजी स्वार्थ से इस्तीफा नहीं दे रहे हैं। 

सुरेंद्र सिंह धर्मा ने अपना इस्तीफा हिमाचल युवा कांग्रेस के अध्यक्ष निगम भंडारी को प्रेषित किया है। उनका कहना है कि स्थानीय नेता कोई सुनवाई नहीं करते हैं। जब नेता समर्थकों की बात सुनने की कोशिश नहीं कर रहे हैं तो ऐसे राजनीतिक दल में रहने का कोई औचित्य नहीं है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ