हिमाचल से शादी कर जाती थीं ससुराल: फिर भाग आती थीं वापस- दो अरेस्ट

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल से शादी कर जाती थीं ससुराल: फिर भाग आती थीं वापस- दो अरेस्ट


सिरमौरः
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला निवासी एक युवती पर पड़ोसी राज्य हरियाणा के एक युवक ने शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया था। इस मामले के संबंध में पीड़ित युवक ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई थी। वहीं, अब इस मामले में आ रही ताजा अपडेट के अनुसार पुलिस टीम ने दो महिलाओं को गिरफ्तार कर दिया है। 

फिलहाल के लिए पुलिस द्वारा दोनों आरोपित महिलाओं को दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है। बताया जा रहा है ये महिलाएं शादी के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर पैसे ऐंठती थीं।

हरियाणा युवक ने दी थी शिकायत 

बता दें कि पुलिस में दी शिकायत में सुशील कुमार निवासी गांव कोहंड जिला करनाल ने बताया कि वह कुछ दिन पहले सुशील कुमार निवासी क्योड़क जिला कैथल से मिला था। इस दौरान उसने बताया कि हिमाचल प्रदेश स्थित पांवटा साहिब में उसकी जान पहचान के कुछ लोग रहते हैं जो पैसे देकर शादी करा देंगे। 

ढाई लाख में करवाई शादी

ऐसे में सुशील कुमार ने बताया कि वह आरोपित के झांसे में आ गया और ढ़ाई लाख रुपए में शादी कराने की बता पक्की कर दी। इस दौरान उसने एक लाख रुपए सुशील को दे दिया। इसके उपरांत बीते 28 फरवरी को पीड़ित युवक अपने परिवार संग पांवटा साहिब के समीप स्थित सटोन शहर पहुंचे। जहां रीतू नाम की महिला ने उसकी शादी पूजा नाम की एक लड़की से करा दी। शादी के बाद शेष बची राशि युवक ने महिला को दे दी। 

शक के आधर पर की शिकायत

इसके उपरांत वह अपनी पत्नी सहित गर वापस आ गया। इस बीच कुछ दिन बाद लड़की के घरवाले उसे वापस घर लाने का दबाब बनाने लगते हैं। ऐसे में उक्त युवक को उनकी हरकतों पर शक हुआ और उसने आरोपितों के खिलाफ पुलिस थाना में मामला दर्ज करवा दिया। इस बीच पुलिस टीम द्वारा बीते 8 मार्च को दो महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है। 

नकली नाम से की ठगी

इसमें माया उर्फ रीतू निवासी गांव सिरला जिला पांवटा साहिब हिमाचल प्रदेश व श्यामा उर्फ पूजा निवासी गुंडहा जिला सिरमौर शामिल हैं। उधर, पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपियों ने मिलकर करीब एक महिने पहले भी श्यामा उर्फ पूजा नाम की लडकी की शादी 2 लाख रुपये में पानीपत के गांव खोजकीपुर के रहने वाले गोवर्धन के साथ भी करवाई थी जो बहाना बनाकर वापस घर आई गई और वापस नहीं गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ