जयराम ठाकुर बोले- CM कर्मचारियों के बीच जाएं ये संभव नहीं, बताया ये रास्ता

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

जयराम ठाकुर बोले- CM कर्मचारियों के बीच जाएं ये संभव नहीं, बताया ये रास्ता


शिमला।
हिमाचल में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर कर्मचारियों द्वारा किए गए प्रदर्शन के चलते आज का दिन तनाव भरा रहा है. ये कर्मचारी अभी भी विधानसभा के भार डेरा जमाए बैठे हैं. इस सब के बीच खबर है कि इन कर्मियों ने मंत्री सुरेश भारद्वाज से बात करने से भी साफ इंकार कर दिया है। 

सीएम उनके बीच आएं यह संभव न

वहीं, इस मसले पर सीएम जयराम ठाकुर ने अपनी तरफ से स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा है कि सीएम उनके बीच आएं यह संभव नहीं है। कर्मचारियों की यह शर्त मंजूर नहीं है। बकौल सीएम जयराम सरकार को उनकी बात सुनने में परेशानी नहीं हैं, लेकिन इसके लिए जो रास्ता उन्होंने अपनाया है वह सही नहीं है। 

जिस भाषा में वे बात करना चाह रहे हैं वह उचित नहीं

सीएम जयराम ठाकुर ने आगे कहा कि कर्मचारियों को अगर बात करनी है तो वह अपना एक प्रतिनिधिमंडल भेजें उससे हम बात करेंगे। सीएम जयराम ने कहा कि आप कर्मचारी हैं। आप अपनी मांग शालीनता के साथ रखें। जिस भाषा में वे बात करना चाह रहे हैं वह उचित नहीं है। 

कर्मचारी राजनीतिक खिलौना ना बनें

उन्होंने कर्मचारियों से आह्वान करते हुए कहा कि आंदोलन को स्थगित करें। इससे उनको भी परेशानी हो रही और लोगों को भी परेशानी हो रही है। सीएम ने आगे कहा कि कर्मचारी राजनीतिक खिलौना ना बनें।

उनकी राय से चीजें चलेंगी यह संभव नहीं

वहीं जब सीएम जयराम से पूछा गया कि एनपीएस कर्मी मांग कर रहे हैं कि अगर कर्मचारियों को पेंशन नहीं तो मंत्री और विधायक भी पेंशन छोड़ें। जिस पर सीएम जयराम ने जवाब दिया कि उनकी राय से चीजें चलेंगी यह संभव नहीं है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ