हिमाचल कांग्रेस में होगी ओवरहॉलिंग: 10 सीटों पर बदल सकते हैं चेहरे- जानें डीटेल

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल कांग्रेस में होगी ओवरहॉलिंग: 10 सीटों पर बदल सकते हैं चेहरे- जानें डीटेल


शिमला:
कांग्रेस पार्टी देश में लगातार मिल रही हार से सबक लेते हुए हिमाचल प्रदेश में बड़ा मंथन करने की जा रही है। इसकी रूपरेखा हाल में ही दिल्ली में हुई प्रदेश और केंद्र के शीर्ष नेतृत्व की बैठक में रखी गई थी।

मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस पार्टी हिमाचल में कांगड़ा के कुछ सीटों समेत प्रदेश भर के कई सीटों पर पिछले प्रत्याशियों को मैदान से बाहर करने जा रही है। उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी का वोट अन्य पार्टी को गया।

वहीं, हिमाचल प्रदेश में भी आम आदमी पार्टी बड़े स्तर पर कांग्रेस पार्टी की कैडर और संगठन को खोखला कर रही है। ऐसे में पार्टी अब कुछ बड़े बदलाव कर सकती है। जिसके पुख्ता संकेत मिल रहे हैं। 

इन सीटों पर होगा बदलाव:

शिमला शहरी सीट से कांग्रेस लगातार चुनाव हार रही है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की जमानत जब्त हुई थी। यहां पर टिकट बदलने की चर्चा है। शिमला जिले के ही ठियोग सीट से प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर चुनाव लड़ सकते हैं। पिछले चुनाव में यहां भी पार्टी की जमानत जब्त हुई थी।

जिला सिरमौर का पच्छाद सीट भी कांग्रेस के लिए चिंता का विषय है। कांग्रेस लगातार दो बार चुनाव हार चुकी है और उपचुनाव में भी हार का सामना करना पड़ा था। सरकाघाट सीट से भी कांग्रेस तीन बार चुनाव हार चुकी है। 

राज्य में 10 के करीब सीटें ऐसी है, जहां पर टिकट बदला जा सकता है। इनमें जोगेंद्रनगर सीट भी शामिल है। पार्टी चुनाव से पहले प्रदेश में सर्वे भी करवाएगी। इसमें देखा जाएगा कि संगठन में क्या चल रहा है। इस बार अधिक सीटों पर युवाओं को प्रत्याशी बनाने पर भी पार्टी में विचार चल रहा है।

नहीं होगा कोई कार्यकारी अध्यक्ष!

दिल्ली में हुई बैठक के बाद कार्यकारी अध्यक्ष बनाने की चर्चा भी रही। सूत्रों की मानें तो इस तरह का प्रस्ताव हाईकमान के पास पहुंचा है, लेकिन इसमें जो नाम दिए गए हैं उन पर सहमति नहीं बन रही है। जो नाम चर्चा में आ रहे हैं उनमें क्षेत्रीय व जातीय संतुलन भी नहीं है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ