जहरीली शराब पीने वालों को 8 लाख मुआवजा, 38 जानें बचाने वाले चालक नंद किशोर को क्यों नहीं?

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

जहरीली शराब पीने वालों को 8 लाख मुआवजा, 38 जानें बचाने वाले चालक नंद किशोर को क्यों नहीं?


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में हाल में पेश आए हादसे में HRTC बस चालक समेत एक वर्षीय मासूम बच्चे की जान चली गई थी। वहीं, अपनी जान गंवाने से पहले बस चालाक नंद किशोर बस में सवार 37 यात्रियों की जान बचा गया था। हादसे के बाद से हर किसी की जुबान पर बस ड्राइवर नंद किशोर का नाम चढ़ा हुआ और हर कोई उसके बलिदान की सराहना कर रहा है। 

यह भी पढ़ें: जयराम कैबिनेट की बैठक शुरू: 100 से ज्यादा प्रस्ताव पर चर्चा, ये फैसले हो सकते..

वहीं, खबर यह भी है कि मृतक ड्राइवर के परिवार को अबतक सरकार की तरफ से कोई भी सहायता राशि मुहैया नहीं कराई गई है। इस बीच आम जनता द्वारा पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की बात सोशल मीडिया के माध्यम से उठाई जा रही है। गरीब परिवार से संबंधित होने के कारण लोग चालक नंद किशोर के परिवार को मुआवजा देने की बात कर रहे हैं। 

कांग्रेस के पूर्व विधायक बोलेः

इसी कड़ी में हिमाचल कांग्रेस के पूर्व विधायक और वीरभद्र सरकार में सीएपीएस रहे कांगड़ा के ज्वाली से नीरज भारती ने अपनी एक सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा कि नंद किशोर को कम से कम 50 लाख रुपए देने चाहिए। इसके अलावा उसके परिवार में किसी को सरकारी नौकरी भी मिलनी चाहिए। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल की हर महिला का जांचा जाएगा खून: घर-घर जाएंगी आशा वर्कर, जानें क्या है वजह

बकौल नीरज भारती, शराब पी कर मरने वालों को अगर सरकार 8 लाख दे सकती है तो अपनी जान देकर 38 लोगों की जान बचाने वाले सरकारी एचआरटीसी के ड्राईवर को क्यों नहीं? 

यूनियन ने दिए पीड़ित परिवार को पैसे

इस संबंध में एचआरटीसी चालक संघ के पदाधिकारियों ने शिमला में सरकार का घेराव भी किया। उनका कहना है कि एचआरटीसी के चालकों ने अपनी जेब से पीड़ित परिवार को 55 हजार रुपए सौंपे हैं। जबकि परिचालक को 25 हजार रुपए दिए गए हैं। उनका कहना है कि सीएम जयराम घायलों से मिले हैं परंतु उन्होंने उन्हें सहायता के नाम पर कुछ नहीं दिया। 

मनाली से शिमला आ रही थी बस

बता दें कि मृतक चालक नंद किशोर ने 11 माह पहले ही एचआरटीसी में बस चलाना शुरु किया था। वहीं, अब हादसे की चपेट में आने से मात्र 32 साल की उम्र में चालक नंद किशोर इस दुनिया को अलविदा कह गया। मृतक अपने पीछे दो छोटे बच्चे छोड़ गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ