हिमाचल कांग्रेस की मत मारी: 'आप' के नेताओं को बना दिया पदाधिकारी, लोग ले रहे मजे

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल कांग्रेस की मत मारी: 'आप' के नेताओं को बना दिया पदाधिकारी, लोग ले रहे मजे

मंडी। राजनीति करना और राजनीतिक पार्टी का संचालन करना बड़ी ही जिम्मेदारी का काम है। जिम्मेदारी का यह भार तब और भी बढ़ जाता है, जब आपेक हाथों में देश की सबसे बूढ़ी पार्टी हो। इसके बावजूद भी अगर ऐसी पार्टी के लोग गलतियां करें तो यह बेहद ही शर्मनाक सी बात हो जाती है। 

इस साल के अंत में हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में सत्ता वापसी की उम्मीद लगाए बैठी कांग्रेस पार्टी ऐसे निर्णायक काल में इतनी बड़ी बड़ी गलतियां की जा रही है, जिसे अब छिपाना भी मुश्किल सा हो गया है। 

सबसे युवा सरपंच को बना दिया महासचिव 

ताजा मामला प्रदेश के मंडी जिले से जुड़ा हुआ है। जहां 5 अप्रैल को आम आदमी पार्टी में शामिल दो चेहरों को शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पार्टी का पदाधिकारी बना डाला। इनमें देश की सबसे युवा सरपंच का रुतबा हासिल कर चुकी जबना चौहान भी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि जबना चौहान ने ना तो कांग्रेस की सदस्यता ली थी और ना ही वो कभी कार्यकर्ता रही हैं। 

दूसरे को बना दिया कांग्रेस कमेटी का उपाध्यक्ष

इसके अलावा दूसरा नाम है चर्चित पार्षद रह चुके नेरचौक निवासी रजनीश सोनी का। ये भी 5 अप्रैल को कांग्रेस को अलविदा कहकर आम आदमी पार्टी ज्वाइन की थी। इसके बावजूद भी सोनी को मंडी जिला कांग्रेस कमेटी का महासचिव बनाया गया है। जबकि जबना चौहान को मंडी जिला कांग्रेस कमेटी का उपाध्यक्ष बनाया गया है। 

डैमेज कंट्रोल के लिए ही पदाधिकारी बना रही कांग्रेस 

अब एक तरफ जहां इतनी बड़ी गलती के कारण प्रदेश भर में कांग्रेस की किरकिरी हो रही है। तो वहीं दूसरी तरफ यह भी माना जा रहा है कि कांग्रेस अपने कुनबे के संभालकर रखना चाह रही है और डैमेज कंट्रोल के लिए ही पदाधिकारी बनाने की नई कवायद शुरू की गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ