हिमाचल में गबन: सैकड़ों बोरी सीमेंट खा गई देश की सबसे युवा सरपंच! 'आप' देना चाहती है टिकट

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में गबन: सैकड़ों बोरी सीमेंट खा गई देश की सबसे युवा सरपंच! 'आप' देना चाहती है टिकट


मंडीः
देश की सबसे कम उम्र में पंचायत प्रधान बनने का रिकॉर्ड अपने नाम करने वाली हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला निवासी जबना चौहान का नाम आजकल काफी चर्चा में है। फिर चाहे हम आम आदमी पार्टी की सदस्या ग्रहण करने की बात करें या बेवजह ही हिमाचल प्रदेश कांग्रेस द्वारा मंडी जिले की कमेटी उपाध्यक्ष बनाने की। 

यह भी पढ़ें: जेपी नड्डा पहुंचे शिमला: CM ने किया स्वागत, खुली जीप में शुरू हुआ रोड शो- उमड़ा हुजूम

वहीं, अब उनका नाम पंचायत प्रधान रहते हुए सरकारी घपलेबाजी से भी जुड़ गया है। जबना चौहान पर अपने कार्यकाल के दौरान सरकारी सीमेंट का गबन करने का आरोप लगा है। इस संबंध में ग्राम पंचायत थरजून के सचिव द्वारा पुलिस थाना गोहर में शिकायत दर्ज करवाई गई है। मिली शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आईपीसी की धारा 406 तथा 409 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

आप वाले देना चाहते हैं टिकट, लेकिन डेंट लग गया 

गौरतलब है कि ही में जबना चौहान ने आम आदमी पार्टी का दामन थामा था। वहीं, माना यह भी जा रहा है कि पार्टी की तरफ से उन्हें नाचन विधानसभा क्षेत्र से चुनाव में भी उतारा जा सकता है। ऐसे में इस बीच उनकी छवि पर लगा यह डेंट 'आप' को भी टिकट देने से पहले एक बार सोचने पर मजबूर कर देगा। 

ग्राम पंचायत सचिव ने घपले की शिकायत में यह बताया 

इस संबंध में पुलिस में दी शिकायत में ग्राम पंचायत थरजून के सचिव तेज राम पुत्र टेक चंद ने बताया कि ग्राम पंचायत थरजून के अंतर्गत वर्ष 2019 में मनरेगा के 14 सिंचाई टैंक स्वीकृत हुए थे। इन टैंकों के निर्माण के लिए 19 मई 2020 को सीमेंट लेने के लिए बिल फार्म पास करने के उपरांत सिविल सप्लाई कार्यालय थुनाग भेजा गया था।             

यह भी पढ़ें: हिमाचल में मल्टीटास्क वर्कर भर्ती: शिक्षा विभाग ने जारी किए नियम, जानें कैसी होगी चयन प्रक्रिया

इनका भुगतान 26 जून 2020 को सिविल सप्लाई थुनाग को ऑनलाइन माध्यम से कर दिया गया था। इसके उपरांत नई पंचायत कार्यकारिणी का गठन हुआ और प्रधान अंजना कुमारी व उप प्रधान डोला राम मार्च 2021 में सीमेंट लाने सिविल सप्लाई कार्यालय थुनाग गए। 

यह भी पढ़ें: 'आप' के नहीं रहे केसरी तो सिसोदिया ने चरित्र पर उछाले छींटे, कहा- महिलाओं संग गंदी हरकत की

इस पर कार्यालय में बताया गया कि 14 सिंचाई टैंकों के कुल 986 बैग सीमेंट पूर्व प्रधान जबना चौहान ले गई है। इस पर जब पूर्व प्रधान जबना चौहान से वर्तमान प्रधान अंजना कुमारी ने बात की तो उन्होंने सीमेंट के बिल पंचायत में जमा कर देने की बात कही गई। परंतु पूर्व प्रधान जबना चौहान ने ना ही सीमेंट और न ही बिल पंचायत में जमा करवाए हैं। 

पुलिस कर रही जांच

मामले की पुष्टि करते हुए एसपी शालिनी अग्निहोत्री ने कहा कि पुलिस थाना गोहर के तहत ग्राम पंचायत थरजून में सरकारी सीमेंट की सप्लाई को लेकर पंचायत की पूर्व प्रधान के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ