हिमाचल: 14 दिन पहले घर में गूंजी थी किलकारी, ढांक से गिरकर थम गई पिता की सांसें

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: 14 दिन पहले घर में गूंजी थी किलकारी, ढांक से गिरकर थम गई पिता की सांसें


मंडी।
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले से एक बेहद ही दुखद खबर सामने आई है। जिले के अंतर्गत आते करसोग उपमंडल में ढांक से गिरने के चलते एक शख्स की जान चली गई। यह हादसा उपमंडल की दूरदराज ग्राम पंचायत मंडी के तहत सलाना गांव से रिपोर्ट किया गया है। 

इतनी थी गहराई कि मौके पर ही जान गंवाई 

जान गंवाने वाले शख्स की पहचान बालाराम पुत्र राम सिंह (35 वर्ष) निवासी गांव सलाना के रूप में की गई है। मिली जानकारी के अनुसार बालाराम सुबह के वक्त घास लेने के लिए घर से निकला था। इस बीच घर से थोड़ी ही दूरी पर स्थित चथोल ढांक के पास उसका पेर फिसल गया और वह 300 फीट नीचे गहरी खाई में जा समाया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के 4 वर्षीय आदविक ने बनाया रिकॉर्ड: 1 मिनट में 14 बार किया महामृत्युंजय मंत्र का जाप

बताया गया कि यह हादसा इतना अधिक दर्दनाक था कि उक्त शख्स की मौके पर ही मौत हो गई। इस हादसे में सबसे दुखद बात यह है कि अभी 14 दिन पहले ही बालाराम के दूसरे बेटे का जन्म हुआ था। घर में नवजात के आगम के बाद से जहां पूरा परिवार इस बात की ख़ुशी मनाने में जुटा हुआ था। वहीं, विधाता को शायद कुछ और ही मंजूर था। 

कल ही घर में हुई थी कथा- अब पसरा मातम 

मिली जानकारी के अनुसार अभी बीते कल 19 अप्रैल को ही घर में बेटा होने की ख़ुशी में कथा आयोजित की गई थी, जिसके अगले दिन ही परिवार पर दुखों का यह बड़ा पहाड़ टूट पड़ा। बालाराम अपने 14 वर्षीय बेटे के अलावा 3 साल के बेटे- पत्नी समेत भरा पूरा परिवार छोड़ गया है। 

10 हजार रुपए की फौरी राहत मुहैया कराई गई 

वहीं, हादसे के संबंध में जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है। इसके साथ इस संबंध में मामला दर्ज कर आगामी छानबीन शुरू कर दी गई है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: टीचर ने हाजिरी लगाकर बंक किया स्कूल, विभाग की तरफ से हुई ये कार्रवाई

वहीं, करसोग के तहसीलदार राजेंद्र ठाकुर ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि प्रशासन की तरफ से पीड़ित परिवार को 10 हजार रुपए की फौरी राहत मुहैया करा दी गई है। इसके साथ ही साथ परिवार को मिलने वाली अन्य सुविधाओं से सम्बंधित औपचारिकताओं को भी पूरा किया जा रहा है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ