हिमाचल: शराब पीकर तेज कर दी गेहूं थ्रेशिंग मशीन की स्पीड, शख्स गंवा बैठा दोनों हाथ

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: शराब पीकर तेज कर दी गेहूं थ्रेशिंग मशीन की स्पीड, शख्स गंवा बैठा दोनों हाथ


सिरमौर।
शराब के नशे में लोग क्या-क्या कर बैठते हैं इस बात का अंदाजा कोई भी नहीं लगा सकता है। ताजा मामला हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के अंतर्गत आते पांवटा साहिब उपमंडल से रिपोर्ट किया गया है। जहां शराब के नशे में धुत्त ट्रैक्टर चालक ने जल्दी काम निपटाने के चक्कर में गेहूं थ्रेशिंग मशीन की रफ़्तार तेज कर दी। वहीं, शराबी ड्राइवर द्वारा की गई इस लापरवाही का अंजाम यह हुआ कि मशीन में गेहूं लगा रहा शख्स अपने दोनों हाथ गंवा बैठा। 

गंभीर हालत में पीजीआई रेफर किया गया 

मिली जानकारी के अनुसार तेज रफ़्तार थ्रेशिंग मशीन की चपेट में आने से शख्स की दोनों बाजुएं कट गई हैं। हादसे के बाद पहले तो उक्त शख्स को 108 एम्बुलेंस के माध्यम से नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहाँ से उसकी गंभीर हालत देखते हुए आगामी इलाज के लिए चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में 1.30 करोड़ रूपए का नया घोटाला आया सामने: पुलिस के पास दर्ज हुआ केस

वहीं, पुलिस ने आरोपी ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुर कर दी है। उधर, पीड़ित शख्स के घरवालों ने इस मामले की शिकायत सीएम हेल्पलाइन में भी की है। घायल हुए शख्स की विधवा बहन ने इस हादसे के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उसके भाई कमलेन्द्र ने 13 अप्रैल की रात को धौलाकुआं निवासी कमल को गेहूं निकालने के लिए ट्रैक्टर और थ्रेशिंग मशीन के साथ अपने घर बुलाया था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 21 साल के छात्र ने शेयर बाजार में डाल दिए थे 15 लाख, हॉस्टल में लटका मिला

महिला के अनुसार जब चालक मशीन लेकर खेत में पहुंचा तो वह शराब के नशे में पूरी तरह से धुत्त था और काम के दौरान फोन पर किसी से बात कर रहा था। इस बीच उसने काम जल्दी निपटाने के चक्कर में मशीन की स्पीड तेज कर दी। इस दौरान मशीन में गेहूं लगा रहे उसके भाई गणेश का हाथ मशीन की चपेट में आ गया और उसकी दोनों बाजुएं कटकर अलग हो गईं। 

7-8 तक नहीं आया पुलिस का फोन, तब CM हेल्पलाइन में की शिकायत 

महिला की मानें तो उनकी तरफ से पुलिस के पास इस बात की शिकायत इस वजह से नहीं दी गई क्योंकि उन्हें लगा था कि 108 एम्बुलेंस के जारी पुलिस तक यह मामला पहुंच जाएगा, लेकिन घटना के 7-8 दिन बाद तक जब पुलिस की तरफ से उनसे किसी भी माध्यम से संपर्क नहीं किया गया तो उन्होंने सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से इस बात की शिकायत दर्ज करवाई। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल पुलिस के पास पहुंची महिला बोले- 25 साल से पति से परेशान हूं, अब नहीं रह सकती

घायल हुए शख्स की बहन द्वारा आरोप लगाया गया है कि थ्रेशिंग मशीन पर काम करने के दौरान कोई भी सुरक्षा उपकरण उपलब्ध ना करवाने तथा शराबी ड्राइवर की लापरवाही के चलते यह हादसा पेश आया है। वहीं, दूसरी तरफ मामले की पुष्टि करते हुए डीएसपी वीर बहादुर ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ