सुक्खू का बेड़ा पार लगाएंगे आनंद शर्मा: आलाकमान से नजदीकी बदलेगी समीकरण

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

सुक्खू का बेड़ा पार लगाएंगे आनंद शर्मा: आलाकमान से नजदीकी बदलेगी समीकरण


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने तय हैं। इस सब के बीच सूबे की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस के मन में सत्ता वापसी का ख़्वाब जरूर है, लेकिन अभी तक पार्टी आंतरिक गुटबाजी से ही पार पाती नजर नहीं आ रही है। 

अबतक जहां खबर थी कि पार्टी का आलाकमना सूबे के संगठनात्मक ढांचे में बड़ा बदलाव करते हुए मंडी संसद प्रतिभा सिंह प्रदेशाध्यक्ष बनाकर उन्हें सूबे में पार्टी की कमान देने वाला है। वहीं, मौजूदा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में पद दिए जाने की बात सामने आ रही थी। 

सुक्खू को मजबूत करेंगे आनंद शर्मा 

इसके अलावा हिमाचल कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाने और टिकट आवंटन कमेटी में शामिल किए जाने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म पड़ा हुआ था। इस बीच अब खबर है सुक्खू को पार्टी आलाकमान द्वारा और अधिक फायदा दिया जा सकता है। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचलः घर से दौड़ लगाने निकला 12 वर्षीय किशोर हुआ लापता, तीन दिन बाद भी नहीं लगा सुराग

हिमाचल के मौजूदा कांग्रेस के विधायकों में से लगभग आदेश विधायकों का समर्थन रखने वाले सुक्खू के करीब पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा सुक्खू को मजबूत बनाने में बड़ा रोल अदा करने वाले हैं। बता दें कि राजस्थान के उदयपुर में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के चिंतन शिविर का आयोजन किया जा रहा है। 

हाईकमान से नजदीकियां बदलेगी समीकरण 

इस बैठक में हिमाचल से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा भी मौजूद रहेंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि पार्टी आलाकमान के बड़े नेताओं से उनकी नजदीकी के कारण सूबे में चुनाव से पहले बदलने वाले राजनीतिक समीकरण में उनकी राय का भी अच्छा ख़ासा प्रभाव रहने वाला है। 

यह भी पढ़ेंः हिमाचल के लड़के को FB पर हुआ उत्तराखंड के लड़के से प्रेम: कर ली शादी- अब हो रहा बवाल

वहीं, अगर ऐसा होता है तो इसका सीधा लाभ सुक्खू गुट को मिलेगा। 13 से 15 मई तक होने वाले इस चिंतन शिविर में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और प्रशांत किशोर पार्टी के दिग्गज चेहरे मौजूद रहने वाले हैं। इसके अलावा पार्टी की तरफ से पदाधिकारियों और सभी राज्यों से 400 सक्रिय कार्यकर्ताओं को भी इस चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए बुलावा भेजा गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ