जयराम सरकार ने अनुबंध कर्मचारियों को दी राहत: आखिरी दिन नियुक्ति पर बर्बाद नहीं होंगे छह महीने

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

जयराम सरकार ने अनुबंध कर्मचारियों को दी राहत: आखिरी दिन नियुक्ति पर बर्बाद नहीं होंगे छह महीने


शिमला।
हिमाचल में अब आखिरी दिन मिलने वाली नियुक्ति या ऑफर के बाद छुट्टियों या अन्य कारणों से ज्वाइन न करने वाले अनुबंध कर्मचारियों को प्रदेश की जयराम सरकार ने राहत दी है। ऐसे कर्मचारियों को अब रेगुलर होने के लिए छह महीने का समय नष्ट नहीं करना होगा। 

सभी प्रशासनिक सचिवों को जारी हुए निर्देश 

कार्मिक विभाग की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार अब 31 मार्च और 30 सितंबर को नियुक्ति पत्र या ऑफर लेटर जारी होने की सूरत में ऐसे कर्मचारियों को देरी से ज्वाइन करने के बावजूद पहली अप्रैल या पहली अक्तूबर से रेगुलर किया जा सकेगा। कार्मिक विभाग की ओर से ये निर्देश सभी प्रशासनिक सचिवों को जारी हुए हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: ब्यास में नहाने गए थे 20 और 21 साल के दो युवक, दोनों डूबे- जीवन समाप्त

बता दें कि राज्य सरकार के कर्मचारियों के मामले में ऐसे ही निर्देश हाईकोर्ट ने भी दिये थे। हाईकोर्ट ने गुलशन भाटिया एंड अदर्स बनाम स्टेट आफ हिमाचल प्रदेश मामले में सरकार से कहा था कि लास्ट डे के कारण अवकाश या अन्य औपचारिकताओं के कारण ज्वाइनिंग में होने वाली देरी को सरकार खत्म यानी कंडोन करे.  इसके बाद अब राज्य सरकार ने भी ये ही व्यवस्था कर दी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 10 वर्षीय 'हनी' को पतंग उड़ाना पड़ा भारी, करंट लगने के बाद छत से गिरा नीचे

गौरतलब है कि हिमाचल में दो तारीखें अनुबंध कर्मचारियों को रेगुलर करने की हैं, जबकि अनुबंध अवधि दो साल की है। एक तारीख है 31 मार्च की और दूसरी 30 सितंबर की। इन तारीखों को नियुक्ति पत्र मिलने के बाद ज्वाइनिंग कई बार दो या चार तारीख तक होती है। ऐसे में इस देरी को अब खत्म किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 2 महीने पहले हुई थी शादी और अब इस तरह 20 वर्षीय विवाहिता ने समाप्त की जीवनलीला

रेगुलराइजेशन के लिए नियुक्ति या ऑफर लेटर की डेट ही ली जाएगी। ऐसा न करने की सूरत में संबंधित कर्मचारी को रेगुलर होने के लिए छह महीने का और इंतजार करना पड़ता है। ऐसा अब नहीं होगा। ये निर्देश कार्मिक विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना की ओर से जारी हुए हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ