नड्डा बता गए 6 महीने का रोड मैप, कांग्रेस को आप और आप को अनुराग ने किया खत्म

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

नड्डा बता गए 6 महीने का रोड मैप, कांग्रेस को आप और आप को अनुराग ने किया खत्म


शिमला:
बीजेपी चीफ जेपी नड्डा के हिमाचल दौरे ने प्रदेश में आगामी छह महीने की रोडमैप तय कर दी है। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी उपचुनाव के क्लीन स्वीप के बाद से ही ध्वस्त होती नजर आ रही है।

वीरभद्र के बिना कांग्रेस विकलांग:

कांग्रेस की संगठन को एकतरफ आम आदमी पार्टी दीमक के तरह अंदर से खोखला कर रही है। वहीं, गुटबाजी कांग्रेस की मतदाताओं तक की पकड़ को खत्म कर रही है। 

इसके बावजूद कांग्रेस पार्टी की रणनीति लापरवाहों की तरह है। साथ ही आलाकमान भी प्रदेश के लिए कोई निर्णय नहीं ले पा रही है। वीरभद्र सिंह जैसे मजबूत स्तंभ के जाने का असर कांग्रेस में साफ नजर आ रहा है।

पार्टी के आम कार्यकर्ता सुनवाई नहीं होने की समस्या से परेशान हैं। वहीं, अगली बैठक कब होनी है यह न तो छोटे कार्यकर्ताओं को पता है और ना ही प्रदेश अध्यक्ष को, सब कुछ राम भरोसे है। 

भाजपा के पास 6 महीने का रोडमैप:

वहीं, भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से चुनावी मोड में आ गई है। पार्टी के पास आगामी छह महीने का मजबूत रोड मैप है, जिसे जनता के बीच रखने नड्डा आए थे। उन्होंने सिलसिलेवार ढंग से सब कुछ बता दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जून और फिर जुलाई में रैली। युवा सम्मेलन, रथ यात्रा और फिर जाते जाते बूथ अध्यक्ष के घर खुद बोर्ड लगाकर नड्डा ने स्पष्ट संदेश से दिया कि भाजपा में बूथ से बड़ा कुछ नहीं। सबसे बड़ा बूथ अध्यक्ष। भाजपा नेताओं का कहना भी रहता है कि वह पांचों साल चुनाव के तैयारी में रहती है। 

सत्ता विरोधी वोट में भी सेंध:

प्रदेश के जो चुनावी हालात हैं ऐसे में सत्ता विरोधी वोट का बंटना तय है। पहले सत्ता विरोध का पूरा वोट कांग्रेस के खाते जाती थी। अब इन वोटों का बंटवारा कांग्रेस, आप और नोटा के बीच में होगा। जिसका पूरा लाभ भाजपा उठाएगी।

वहीं, भाजपा का चुनावी मैनेजमेंट इतना जबरदस्त है कि आम आदमी पार्टी की हवा अकेले अनुराग ठाकुर ने निकाल दी है। पहले प्रदेश अध्यक्ष, संगठन मंत्री और अभी की ताजा अपडेट के अनुसार अनुराग ठाकुर ने महिला विंग की अध्यक्षा समेत आधी से अधिक संगठन को भाजपा ज्वाइन करवा दिया है। 

ऐसे में आने वाले समय में देखना दिलचस्प होगा कि कांग्रेस पार्टी कैसे संगठन में जान फूंकती है। आम आदमी पार्टी अपने कैडर को दुबारा कैसे खड़ी करती और भाजपा मिशन रिपीट कराने के लिए कौन कौन से गुल खिलाती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ