'आप' के नहीं रहे केसरी तो सिसोदिया ने चरित्र पर उछाले छींटे, कहा- महिलाओं संग गंदी हरकत की

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

'आप' के नहीं रहे केसरी तो सिसोदिया ने चरित्र पर उछाले छींटे, कहा- महिलाओं संग गंदी हरकत की


शिमला।
राजनीति में कोई किसी का नहीं होता, यह बात आज सुबह सवेरे हिमाचल के राजनीतिक अखाड़े में भी पूरी तरह से फिट बैठी। विदित है कि साल 2020 से हिमाचल प्रदेश आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष रहे अनूप केसरी ने अपने दो साथियों के साथ भारतीय जनता पार्टी का दामन थम लिया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में 60 वर्षे से अधिक उम्र वाले इन लोगों को नहीं मिलेगी पेंशन, इन्हें मिलेगी- जानें शर्तें और नियम

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में अनूप केसरी ने पाला बदल कर सूबे में आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका दिया है। इसके साथ ही उन्होंने 'आप' के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर कार्यकर्ताओं की अनदेखी करने के आरोप भी लगाए। 

चरित्र पर उछाले छींटे 

वहीं, अब आम आदमी पार्टी की तरफ से भी अनूप केसरी के इन फैसले पर बड़ा हमला बोला गया है। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने तो अनूप केसरी चरित्र पर ही छींटे उछाल दिए हैं। सिसोदिया का कहना है कि अनूप केसरी का व्यवहार महिलाओं के संग सही नहीं था। 

हम तो निकालने ही वाले थे 

इस संबंध में ट्वीट करते हुए सिसोदिया ने लिखा कि BJP के शीर्ष नेतृत्व को केजरीवाल जी का ज़बर्दस्त ख़ौफ़ है। बीजेपी के अध्यक्ष नड्डा और होने वाले नए CM चेहरा अनुराग ठाकुर दौड़ कर हिमाचल पहुंचे हैं और रात 12 बजे आप के एक पदाधिकारी को शामिल करवाया। 

सिसोदिया ने कहा कि महिलाओं के ख़िलाफ़ गंदी हरकत के आरोप में पार्टी इसे (अनूप केसरी) को आज निकालने वाली थी। ऐसे लोगों की जगह भाजपा में ही है।

पहले क्यों नहीं निकाला जब सब जानते थे 

वहीं, सिसोदिया के इस ट्वीट के बाद से बड़ा सवाल यह उठने लगा है कि आख़िरकार जब उन्हें अनूप केसरी के बारे में पहले से ही इतना सबकुछ पता ही था। तो आखिर क्यों पार्टी ने उन्हें पहले ही बाहर का रास्ता क्यों नहीं दिखा दिया है। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ