हिमाचलः जबना को फंसाया गया था ? HC ने दी जमानत- शिकायतकर्ता को फटकार

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचलः जबना को फंसाया गया था ? HC ने दी जमानत- शिकायतकर्ता को फटकार


मंडीः
हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने सीमेंट का गबन मामले में देश व प्रदेश में बहुचर्चित पूर्व प्रधान जबना चौहान को स्थायी जमानत दे दी है। कोर्ट ने मामले के संबंध में पुलिस व पंचायत सचिव को फटकार भी लगाई। इसके साथ ही अदालत ने पंचायत सचिव व पंचायत कमेटी मेंबर्स के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश भी दिए हैं। मामला प्रदेश के मंडी जिले के तहत आती ग्राम पंचायत थरजून का है।

कोर्ट ने दी स्थायी जमानत

यह फैसला न्यायधीश विवेक सिंह ठाकुर ने लिया है। उन्होंने जबना चौहान को एक सामाजिक हस्ती बताते हुए इस मामले में स्थायी जमानत दी है। बता दें कि ग्राम पंचायत थरजून के पंचायत सचिव तेज राम ने गोहर पुलिस थाना में पूर्व पंचायत प्रधान जबना चौहान के खिलाफ सीमेंट के 986 बैगों का गबन करने का आरोप लगाया था।

न्याय के लिए पहुंची थीं कोर्ट

पुलिस ने पंचायत सचिव द्वारा दी गई शिकायत पर पूर्व प्रधान जबना चौहान आईपीसी की धारा 406 व 409 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली थी। इसके उपरांत जबना चौहान ने न्याय के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था। कोर्ट ने जबना को 12 अप्रैल को अंतरिम जमानत दी थी। साथ ही पुलिस व पंचायत सचिव से सारा रिकॉर्ड मांगा था।

मामला कोर्ट में जाने के बाद पंचायत सचिव ने सीमेंट ढुलाई के सभी बिल जांच के दौरान गोहर थाना पुलिस के हवाले कर दिए। हालांकि, एफआईआर से पहले सचिव ने इससे संबंधित कोई भी रिकॉर्ड न होने की बात कही जा रही थी, जबकि कोर्ट में पेशी के दौरान जबना चौहान ने सीमेंट के बैगों की ढुलाई की डिटेल फोटोकॉपी कोर्ड में पेश करवा दी थी।

कमेटी मेंबर्स बोलेः गुड फेथ में किए थे हस्ताक्षर

इस फोटोकॉपी में पंचायत की कमेटी के हस्ताक्षर मौजूद थे। इन कमेटी मेंबर्स ने पुलिस में दिए बयान में कहा कि उन्होंने यह साइन गुड फेथ पर किए थे, जिसे कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया। उधर, कोर्ट ने इस बात को आधार बनाते हुए पुलिस व पंचायत सचिव को जमकर फटकार लगाई। साथ ही पंचायत सचिव तथा कमेटी मेंबर्स पर कार्रवाई करने की बात भी कही।

जानें क्या बोली जबना चौहान-

जबना चौहान ने कहा कि यह एफआईआर उनके खिलाफ राजनीतिक साजिश है। उनकी छवि धूमिक करने के लिए यह विरोधियों की सोची समझी चाल थी। उन्होंने अदालत का आभार प्रकट करते हुए कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि जल्द ही जिला न्यायालय भी उन्हें बाइज्जत बरी करेगी साथ ही दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ