हिमाचल: प्री-मानसून में ही फट पड़ा बादल, पानी के साथ ओले भी बरसे- जानें आगे का हाल

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: प्री-मानसून में ही फट पड़ा बादल, पानी के साथ ओले भी बरसे- जानें आगे का हाल


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में प्री-मानसून ने दस्तक दे दी है। आज राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई जिलों में बारिश हुई और कई क्षेत्रों में तबाही का दौर भी शुरू हो गया। ताजा अपडेट के अनुसार कुल्लू जिले की गडसा घाटी में बादल फटने से कई घरों में पानी और मलबा चला गया। इस घटना में एक गाय बह गई और दो सड़कें बंद हो गईं।

इस घटना से इलाके में दहशत का आलम रहा। गड़सा घाटी में बरसात के दिनों में बादल फटने की घटनाएं होती रहती हैं। कुछ वर्ष पहले शिल्हानाल में बादल फटने से कई लोग मलबे में दब गए थे। मारे गए लोग हाइडल प्रोजैक्ट की वर्क साइट पर काम करने वाले मजदूर थे।

इसके अलावा राजधानी शिमला सहित धर्मशाला, कुल्लू, मनाली, भुंतर में बुधवार शाम को बारिश हुई। मंडी जिले के सराज और चौहारघाटी में भारी ओलावृष्टि होने से फसलों को नुकसान हुआ है।

आने वाले दिनों में कैसे रहेगा मौसम

इस सब के बीच राजधानी शिमला स्थित मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा पूर्वानुमान जारी करते हुए बताया गया है कि गुरुवार को भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में भारी बारिश होगी और अंधड़ चलने की भी संभावना है। इस देखते हुए मौसम विभाग की तरफ से येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है।

इसी तरह पूरे प्रदेश में 19 जून तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। 20 जून को प्रदेश में मानसून के प्रवेश करने का पूर्वानुमान है। जबकि 18 जून तक प्रदेश के मैदानी, मध्य व उच्च पर्वतीय भागों में बारिश जारी रहने के आसार हैं।

16 और 17 जून को चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला व सिरमौर जिले में भारी बारिश की संभावना है। इससे पानी, बिजली व संचार सेवाएं बाधित हो सकती हैं। भारी बारिश से भूस्खलन की भी संभावना है। वहीं, 21 जून तक प्रदेश में मानसून के पहुंचने के भी आसार हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ