हिमाचलः सरकारी अस्पताल का डॉक्टर घर पर कम रहा था पैसे, विजिलेंस ने पकड़ा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचलः सरकारी अस्पताल का डॉक्टर घर पर कम रहा था पैसे, विजिलेंस ने पकड़ा


ऊना।
सरकारी के अस्पताल में तैनात चिकित्सकों को उनकी सेवाओं के लिए अच्छा ख़ासा मेहनताना दिया जाता है, जिससे कि वो एक अच्छी खासी जिंदगी बसर कर सकें। इसके बावजूद भी भगवान का दर्जा पा चुके इन डॉक्टर्स के मन में लालच का चोर छिपा होता है। जो कि इन्हें अधिक कमाई के लिए निजी प्रैक्टिस करने को उकसा ही देता है।

शिशु रोग विशेषज्ञ के घर मिले 80 मरीज

ताजा मामला हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले से सामने आया है। जहां विजिलेंस की टीम ने अपने घर पर निजी क्लिनिक चला रहे एक सरकारी अस्पताल के डॉक्टर का भांडाफोड़ कर दिया। क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में तैनात यह शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. विपिन शर्मा अपने घर पर मरीजों से पैसे लेकर उनका इलाज कर रहा था।

इसी बीच इस बात की शिकायत मिलने के बाद विजिलेंस की टीम मौके पर जा पहुंची। जहां उन्होंने पाया कि डॉक्टर के पास इलाज कराने के लिए करीब 80 मरीज आए हुए हैं। इसके बाद छानबीन करने पर मौके से विजिलेंस की टीम को करीब 1 लाख रुपए कैश बरामद हुआ, जिसे उन्होंने अपने कब्जे में ले लिया है।

दर्ज हुआ मामला, जब्त हुआ रिकॉर्ड

इसके बाद विजिलेंस की टीम ने मौके पर मौजोद मरीजों को अस्पताल भिजवाया क्षेत्रीय अस्पताल प्रबंधन से बातचीत कर अन्य शिशु रोग विशेषज्ञ से ऊना अस्पताल में उनकी जांच करवाई। विजिलेंस टीम ने कार्रवाई के दौरान दवाओं की जांच के लिए ड्रग इंस्पेक्टर को भी मौके पर बुला लिया था।

बतौर रिपोर्ट्स, विजिलेंस द्वारा उक्त डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही साथ आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। बताया गया कि विजिलेंस द्वारा मौके पर दवाओं के रिकार्ड को लेकर डॉक्टर से पूछताछ की गई है। इसके साथ की कुछ रिकॉर्ड को कब्जे में भी लिया गया है। डीएसपी अनिल मेहता द्वारा इस मामले की पुष्टि की गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ