हिमाचल: रिंग हो रहे फोन को नहीं उठा रहा था बेटा, पिता ने वेंटिलेटर से झांका तो उड़ गए होश

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: रिंग हो रहे फोन को नहीं उठा रहा था बेटा, पिता ने वेंटिलेटर से झांका तो उड़ गए होश


मंडी।
हिमाचल प्रदेश में आत्महत्या के मामले एक गंभीर चिंता का विषय बनते जा रहे हैं। इसी कड़ी में ताजा मामला सूबे के मंडी जिले से रिपोर्ट किया गया। जहां एक 28 वर्षीय शख्स ने फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर दी।

जान गंवाने वाले शख्स का नाम विजय कुमार पुत्र चंद्रमणि था, जो कि जिले के तहत आते बल्ह उपमंडल के गोड़ा गागल का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि विजय अपने परिवार से अलग एक कमरे में अकेला रहता था।

दो दिन पहले ही मायके गई थी पत्नी

मिली जानकारी के अनुसार विजय कुमार की पत्नी दो दिन पहले ही मायके गई थी। इस बीच आज जब बार-बार उसका फोन बजा और उसे किसी ने नहीं उठाया। तो उसके पिता कौतूहलवश कमरे की तरफ गए। जहां उन्होंने पाया कि कमरे की कुंडी अंदर से लगी हुई है।

पिता ने अन्दर झांकर देखा, नीचे गिरा था बेटा

ऐसे में पिता ने अपने बेटे को आवाज दी और दरवाजा भी खटखटाया लेकिन अन्दर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। इसके बाद जब उन्होंने वेंटिलेटर से झांककर अन्दर देखा तो उनके पांव तले से जमीन खिसक गई। उन्होंने देखा कि उनका बेटा नीचे गिरा हुआ है।

अस्पताल ले गए पर देर हो गई थी

इसके बाद उन्होंने यह देखने के बाद शोर मचाया और आसपास मौजूद लोगों की मदद से दरवाजा तोड़कर बेटे के पास पहुंचे। फिर अपने बेटे को आनन फानन में इलाज के लिए नेरचौक मेडिकल कॉलेज ले गए, लेकिन तबतक काफी देर हो चुकी थी। अस्पताल पहुंचने पर वहां मौजूद चिकत्सकों द्वारा विजय कुमार को मृत घोषित कर दिया गया।

मामले की छानबीन में जुटी पुलिस

उधर, मामले का पता चलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच घटनास्थल का जायजा लिया। शुरूआती छानबीन में यह बात निकलकर सामने आ रही है कि विजय ने पंखे से दुपट्टे से फंदा लगाया था और दुपट्टा टूटने से वह नीचे गिरा होगा। पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमोर्टम करवाने के बाद उसे परिजनों के हवाले कर दिया है।

इसके साथ ही इस सम्बन्ध में मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस द्वारा इस बात का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि आखिरकार विजय कुमार ने यह खौफनाक कदम क्यों उठाया। मामले की पुष्टि एसपी शालिनी अग्निहोत्री द्वारा की गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ