हिमाचल: सरकारी सीमेंट से बना रहा था अपने सपनों का महल, विजिलेंस ने ऐसे पकड़ा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: सरकारी सीमेंट से बना रहा था अपने सपनों का महल, विजिलेंस ने ऐसे पकड़ा


बिलासपुरः
हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ समय से विजिलेंस की टीम द्वारा छेड़ी गई मुहिम के अंतर्गत अबतक कई भ्रष्टाचारी कर्मचारियों का पर्दाफाश हो चुका है। यही नहीं टीम अभी भी ऐसे ही और अन्य लोगों को पकड़ने में लगी हुई है। इस बीच ताजा मामला प्रदेश के बिलासपुर जिले के तहत आती ग्राम पंचायत हरनोडा के नैहर गांव का है।

जहां विजिलेंस की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर दबिश देते हुए चाय का कारोबार करने वाले एक व्यक्ति के घर से भवन निर्माण के लिए इस्तेमाल हो रहे सरकारी सीमेंट की बोरियां बरामद की है। टीम ने जब उक्त व्यक्ति से सीमेंट संबंधित पूछताछ की तो वह कुछ भी बताने में असमर्थ रहा।

गुप्त सूचना पर दी दबिश

मिली जानकारी के मुताबिक राजकुमार सुपुत्र भगतराम हरनोड़ा में चाय की दुकान चलाता है। आजकल उसके घर का निर्माण कार्य चला हुआ है, जिसमें सरकारी सीमेंट का इस्तेमाल किया जा रहा था। इसकी सूचना जैसे ही विजिलेंस टीम को लगी तो उन्होंने व्यक्ति के घर पर दबिश देते हुए घर की तलाशी ली।

34 बोरियां हुई बरामद, एक थी खुली

जांच के दौरान टीम ने राजकुमार के घर से 34 बोरीयां सरकारी एसीसी सीमेंट की बरामद की, जबकि एक खुली बोरी मिली। यही नहीं टीम ने सरकारी सीमेंट की 10 खाली बोरियां भी घर से बरामद की।

आरोपित ने नहीं  दिया कोई जवाब

जब टीम ने मकान मालिक से सरकारी सीमेंट के इस्तेमाल संबंधित पूछताछ की तो राजकुमार कुछ भी जवाब नहीं दे पाया। इस पर कार्रवाई करते हुए टीम ने आरोपित के खिलाफ राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो थाना बिलासपुर में मामला दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है। मामले की पुष्टि विजिलेंस डीएसपी संजय कुमार ने की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ