हिमाचल हाईकोर्ट के जज की बेटी का काला सच: जानें पूरी कहानी- दहल जाएगा दिल

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल हाईकोर्ट के जज की बेटी का काला सच: जानें पूरी कहानी- दहल जाएगा दिल


चंडीगढ़/शिमलाः
हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट जज की बेटी कल्याणी सिंह को चंडीगढ़ के चर्चित सिप्पी मर्डर केस मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किया गया है। वहीं, युवती की गिरफ्तारी के बाद अब इस हत्याकांड से जुड़े हुए कई रहस्य उजागर हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि एकतरफा प्रेम-प्रसंग के चलते सिप्पी की हत्या की गई है।

करना चाहती थी शादी पर मिला इंकार

मिली जानकारी के मुताबिक कल्याणी सिंह व सुखमन प्रीत सिंह उर्फ सिप्पी के परिवारजन पहले से ही परीचित थे। इस वजह से ये दोनों भी बचपन से एक दूसरे को जानते थे। कल्याणी सिंह सिप्पी से प्यार करती थी और उससे शादी करना चाहती थी। परंतु सिप्पी कल्याणी संग शादी करने को लेकर राजी नहीं था। ऐसे में युवती पर आरोप लग रहे हैं कि उसने शादी के इंकार के चलते ना केवल सिप्पी की हत्या की साजिश रची बल्कि खुद अपने हाथों से इस घटना को अंजाम भी दिया।

माना तो ये भी जा रहा है कि सभी लोग इनके रिश्ते के बारे में जानते थे परंतु हाईप्रोफाइल परिवारों से संबधित होने के चलते हर कोई कुछ भी कहने से बच रहा था। वहीं, अब घटना के सात साल बात सीबीआई ने कल्याणी सिंह को गिरफ्तार किया है। बता दें कि इससे पहले भी कई बार सिप्पी के भाई व शिकायतकर्ता वकील जसमनप्रीत सिद्धू व उनके परिवारजन पहले भी इस बात को कई दफा उड़ा चुके हैं परंतु बावजूद इसके पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

सिप्पी के भाई ने लगाया पुलिस पर ये आरोप

उन्होंने कहा कि वह पहले दिन से ही बोल रहे हैं कि कल्याणी ने ही सिप्पी की हत्या की है। परंतु चंडीगढ़ पुलिस मामले की लीपापोती करती रही। जब लीपापोती हो गई तब उन्होंने इस मामले को सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया। ताकि सबूतों के अभाव में सीबीआई मामले को अनट्रेस दाखिल कर उसे बंद करने के लिए मजबूर हो जाए। अगर पुलिस पहले ही इस मामले को गंभीरता से लेती तो पहले ही यह कार्रवाई हो चुकी होती।

सीबीआई पर है भरोसा

वही, अब कल्याणी सिंह की गिरफ्तारी हो चुकी है। ऐसे में भाई कहते हैं कि उन्हें तो कल्याणी के माता-पिता पर भी शक है। परंतु अब उसकी गिरफ्तारी हो चुकी है ऐसे में वह सीबीआई पर उनका विश्वास और बढ़ गया है। अब दूध का दूध और पानी का पानी होकर रहेगा। उन्होंने कहा कि देर लगी पर सीबीआई ने कुछ कर के तो दिखाया है। उनका कहना है कि कल्याणी ने खुद सिप्पी को गोली मारी थी। उन्होंने कल्याणी सहित तीन- चार लोगों पर संदेह भी व्यक्त किया है।

हि प्र हाईकोर्ट जज के खिलाफ करेंगे शिकायत

वे कहते हैं कि उनके दादा भी जज थे, जबकि उनके पिता एसएस सिद्धू पंजाब के एडिशनल एडवोकेट जनरल रह चुके हैं। वह अब कल्याणी की मां के खिलाफ चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया तथा कानून मंत्रालय को शिकायत देंगे। ताकि इस मामले पर सीबीआई पर कोई दबाव न बना सके।

सीबीआई रिपोर्ट में चंडीगढ़ पुलिस पर ये आरोप

उधर, सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने 2020 में कोर्ट में दाखिल रिपोर्ट में यह भी बताया है कि चंडीगढ़ पुलिस ने शुरूआती जांच में सबूतों को मिटाने की हर कोशिश की है। इसके चलते मुकदमा हैंडीगैप हो गया। इसके चलते सीबीआई ने सेक्टर 26 में तैनात महिला एसएचओ व एएसपी ईस्ट के खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश की थी।

2015 में गोली मारकर की थी हत्या

बता दें कि सुखमन प्रीत सिंह उर्फ सिप्पी राष्ट्रीय स्तर के शूटर व वकील थे। इनकी चंडीगढ़ के सेक्टर 27 के एक पार्क में 20 सितंबर 2015 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यह मामला चंडीगढ़ स्थित सेक्टर 26 थाने में दर्ज किया गया था। इसके उपरांत साल 2016 में इस मामले को सीबीआई को सौंपा गया था। वहीं, अब करीब सात साल बात इस मामले में गिरफ्तारी हुई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ