About

Ticker

6/recent/ticker-posts

About

News 4 Himalayans: देखने और सुनने में तो यह तीन भाषा के शब्दों को तोड़-मरोड़ कर तय किया हुआ नाम है लेकिन जब आप भाषाई परिधि को लांघकर इन शब्दों को देखेंगे तो आपको देवभूमि हिमाचल प्रदेश से जुड़ी ख़बरों और सूचनाओं का भंडार मिलेगा। जो आपको प्रदेश समसामयिक घटनाओं, राजनीतिक उथलपुथल से दो-चार तो कराएगा ही लेकिन इसके साथ ही एक नजरिया भी देगा जिससे आप और अधिक जागरूक हो सकेंगे। 

हमारे अनुमान से पत्रकारिता, क्रांति का जन्मदाता होने के बजाय जानकारी और जागरूकता के संवाहक के रूप में अधिक सुशील दिखाई देती है। ऐसे में हमने इसी विचार को अपना आदर्श मानकर देवभूमि हिमाचल प्रदेश को अपनी कर्मभूमि के रूप में चुना है। 

अपने इस नवप्रयास में हमने तकनीक और आधुनिकता का उतना ही पुट रखा है, जो कि हमारी सभ्यता, परंपरा और आदर्शों को सही मायने में संजोकर रखे रहे और हमें समाज के वर्तमानकालिक प्रवृत्तियों के समकक्ष भी बनाए रखे। 

न्यूज़ 4 हिमालयन नामक समाचार के इस गढ़ में आपको उपयोगिता, मनोरंजन, ज्ञानवर्धन, रोजगारपरक, हिप-हॉप, धार्मिक समेत अन्य कई आयाम की ख़बरों का एक वृहद् संसार मिलेगा। 

इस मंच के मध्याम से हम 24×7 आपके साथ जुड़कर समाजसेवा के इस कार्य को सहृदयता से करने के प्रयास में जुटे हुए हैं। इस दौरान हम आपके सुझाव और आलोचनाओं को साथ लेकर चलते हुए सदैव ही आगे बढ़ने को अपना ध्येय बनाए रखेंगे। 

हम अपनी खबरों के माध्यम से आप पाठकों तक केवल विशलेष्णों का शुष्क ब्यौरा ही नहीं पहुंचाएंगे बल्कि स्वयं और आपको एक गतिशील विचार के माध्यम से आधुनिक इतिहास के और करीब लेकर जाने का प्रयास करेंगे। 

इस दौरान हम अपनी मर्यादा का ख़याल रहते हुए इस बात का भी ध्यान रखेंगे कि कभी हमारे सामने सीमा लांघने की नौबत न आए। अपने इस प्रयास के माध्यम से हम एक आदर्श बनने की राह में आगे बढ़ चुके हैं, बस इस राह पर आपके सहयोग की आकांक्षा है...

मैं नहीं कहता मुझे

हर घर शिवालय चाहिए।

बस मुझे माँ भारती के

सिर 'हिमालय' चाहिए।।

Post a Comment

1 Comments

  1. Low intensity earthquake jolts somewhere near Dharamshala in Kangra district of Himachal Pradesh in early morning hours of 16 April 2021.
    According to news reports, Dharamshal in Kangra district of Himachal Pradesh was jolted by a low-intensity earthquake loaded with 3.6 magnitude on richter scale in early morning hours of 16 April 2021. A news report said that the first jolt occurred at 3:03 am followed by another jolt at 3:18 am. Most of people were enjoying their sound sleep when the trembler hit, making some with not so sound sleep to feel it. There are no reports of any damage as the intensity happened to be low.
    In this context, it may be apt to refer readers to this Vedic astrology writer’s one of predictive alerts in article, as follows, for 15 to 19 April 2021 published at english.nirpakhawaaz.in on 3 April 2021:-
    “Major worrisome concerns in India during a period of nearly two months from about 7 April to 31 May 2021, calling for more care and appropriate strategy. Such strategy may have to be continued as long as 10 August 2021 in some form or the other”.
    Link to reach the article:-
    http://english.nirpakhawaaz.in/2021/04/03/major-worrisome-concerns-in-india-during-a-period-of-nearly-two-months-from-about-7-april-to-31-may/
    The related predictive alert is reproduced here from the article :-
    “(2). Likely earthquake jolts appear to be taking place in vulnerable locations. These can be having low or medium magnitude but massive potency cannot be ruled out completely particularly in northern States plus Gujarat -Maharashtra mentioned in this article. ………………..
    (10). While the entire period of nearly two months from about 7 April to 31 May in present year 2021 looks to be loaded with major worries, such dates in April, 2021 as 7, 15 to 19, 25 to 29 may likely be closely related in relation to one or more or most of aforesaid predictive alerts brought out in (1) to (11) here in this article. Similarly, such dates as 3 to 4 , 13 to 16 ( 15 and 16 look to be having more strength of causing huge worry), 24 to 27 ( 26 and 27 being stronger) , and 30 to 31 in the month of May , 2021 appear to be major worrisome.
    (11). Northern India, ………………….may be called upon to keep a note of one or more or most predictive alerts in view for more care and appropriate strategy. Such hill States as Himachal Pradesh ( Una- Kangra-Shimla-Kinnaur districts), Uttarakhand, Sikkim, and the like may also like to take precautions”.
    Piecing together, the predictive alert is complete in the article on record, without any ambiguity for more care and appropriate strategy.




    ReplyDelete

Please do not enter any spam link in the comment box. Thanks